पिछले छह सात वर्षों से सनी देओल के सितारे गर्दिश में चल रहे हैं. 2011 में नीरज पाठक के निर्देशन में बनने वाली उनकी फिल्म ‘‘भईयाजी सुपरहिट’’ की घोषणा हुई थी. मार्च 2012 में इस फिल्म का फस्टलुक भी आ गया था. मगर अब तक इस फिल्म की शूटिंग शुरू नहीं हो पायी है. जबकि हर साल सनी देओल की तरफ से कहा जाता है कि वह इस फिल्म की शूटिंग शुरू करने जा रहे हैं. अब एक बार फिर सनी देओल ने दावा किया है कि वह बहुत जल्द इस फिल्म की शूटिंग शूरू करेगे. इसके अलावा डा. चंद्रप्रकाश द्विवेदी निर्देशित सनी देओल की मुख्य भूमिका वाली  फिल्म ‘‘मोहल्ला  अस्सी’’ की क्या हालत हुई, सभी को पता है. यह फिल्म थिएटर में रिलीज नहीं हुई, मगर  इंटरनेट साइट टोरंट पर रिलीज हो गयी. विनय सप्रू व राधिका राव निर्देशित फिल्म ‘‘आई लव यू एन वाय’ का हश्र सभी को पता है. पिछले दो वर्षों से सनी देओल की आर्थिक हालात को लेकर कई तरह की खबरें आ रही है. इन खबरों का सनी देओल की तरफ से लगातार खंडन भी आ रहा है.   

बड़ी मुश्किलों व कई बार रिलीज की तारीखें बढ़ाने के बाद अंततः सनी देओल अपनी फिल्म ‘‘घायल वंस अगेन’’ को पांच फरवरी को थिएटरों तक पहुंचाने में कामयाब हो गए. मगर सनी देओल ने जिस तरह की सफलता की उम्मीद की थी, वैसी सफलता इस फिल्म को नहीं मिली. बड़ी मुश्किल से यह फिल्म लगभग 34 करोड़ ही काम सकी है. ज्ञातब्य है कि सनी देओल ने इस फिल्म का लेखन, निर्माण व निर्देशन करने के साथ साथ इसमें मुख्य भूमिका भी निभायी है. यह उनकी 1990 की सुपर डुपर हिट फिल्म ‘‘घायल’’ का सिक्वअल है. एक तरफ ‘‘घायल वंस अगेन’’ ने सनी देओल का नाम बचा दिया. कहने का अर्थ यह कि एक तरफ सनी देओल के अपने सितारे गर्दिश में हैं, तो दूसरी तरफ सनी देओल के सामने धर्म संकट खड़ा हो गया है और अब उनकी समझ में नहीं आ रहा है कि वह क्या करें

सूत्रों के अनुसार सनी देओल का बेटा करण देओल पिछले चार वर्षों से बालीवुड में लांच होने का इंतजार कर रहा है. वास्तव में सनी देओल अपने बेटे करण देओल को हीरो बनाने के लिए खुद ही रोमांटिक फिल्म ‘‘पल पल दिल के पास’’ शुरू करने वाले थे. इस फिल्म की कहानी सनी ने तय कर ली है. वह इसका निर्माण व निर्देशन करने वाले हैं. बालीवुड में बेहतरीन तरीके से अपने बेटे को लांच करने के लिए सनी देओल अपने बेटे करण को पिछले चार वर्षों से कलाकार के रूप में तैयार करते आ रहे हैं. अपने पिता की आज्ञा का पालन करते हुए करण ने विदेश जाकर अभिनय की ट्रेनिंग हासिल की. उसके बाद उसने फिटनेस पर काम करते हुए वर्तमान समय के फिल्मी हीरों की तरफ अपनी मसल्स और एब्स भी बनाए. वह हर दिन जिम जाता है. फुटबाल खेलता है. एक्शन की भी खास ट्रेनिंग ले रहा है. पर करण को अफसोस है कि उसकी फिल्म शुरू नहीं हो पा रही है.

करण के साथ सनी देओल को भी उम्मीद थी कि ‘‘घायल वंस अगेन’’ के बाक्स आफिस पर ठीक ठाक बिजनेस करते ही वह ‘‘पल पल दिल के पास’’ के निर्माण की घोषणा कर देंगे. सूत्र बताते हैं कि जब ‘‘घायल वंस अगेन’’ ने लगभग पच्चीस करोड़ का बिजनेस कर लिया तो सनी देओल ने ‘पल पल दिल के पास’ की योजना पर काम करते हुए तय किया कि बीस फरवरी के बाद लेखकों की टीम इस फिल्म की पटकथा पर काम शुरू कर देगी. मई माह तक पटकथा तैयार हो जाएगी. उसके बाद पटकथा के आधार पर सनी देओल फिल्म के दूसरे अन्य पात्रों को निभाने के लिए कलाकारों व लोकेशन तय करने का काम करेंगे. दिवाली के आसपास वह इस फिल्म की शूटिंग शुरू कर देंगे. मगर सब कुछ तय करने के बाद सनी देओल इस फिल्म की कोई घोषणा करते उससे पहले ही एक बुरी खबर ने सभी को चुप करा दिया. वास्तव में सनी देओल के छोटे भाई बाबी देओल की बहुप्रतीक्षित  फिल्म ‘चंगेज’ के बंद होने की खबर आ गयी. इस खबर ने सनी देओल की सारी योजना पर पानी फेर दिया. उधर अब करण देओल भी एक बार फिर मायूस हो चुके हैं.   

वास्तव में फिल्म निर्देशक विवेक सिंह चैहान बाबी देओल को सोलो हीरो लेकर एक डार्क थ्रिलर फिल्म ‘‘चंगेज’’ बनाने की योजना बनायी थी. यह फिल्म पिछले चार वर्षों से अटकी हुई है. सूत्रों की माने तो इस फिल्म की शूटिंग 2013 में शुरू होनी थी. लेकिन 2013 में ही धर्मेंद्र, सनी देओल और बाबी देओल के अभिनय से सजी फिल्म ‘‘यमला पगला दीवाना 2’’ ने बाक्स आफिस पर पानी नहीं मांगा, तो इस फिल्म का निर्माण रूक गया था. उसके बाद फिल्म की हीरोईन बदल गयी और मोनिका डोगरा आ गयीं. तथा निर्देशक विवेक सिंह चैहान ने नए फायनेंसर की तलाश कर इस फिल्म की शूटिंग जनवरी 2016 के मध्य में शुरू करने की योजना बनायी थी. सूत्रों की माने तो अब फिल्म ‘चंगेज’ का निर्माण सनी देओल व बाबी देओल की होम प्रोडक्शन ‘‘विजेता फिल्मस’’ के बैनर तले होनी थी. नया फायनेंसर इस फिल्म के निर्माण में करीबन दस करोड़ रूपए लगा रहा था. बाबी देओल ने इस फिल्म के किरदार की मांग के अनुरूप ही पिछले तीन वर्षों से दाढ़ी व बाल भी बढ़ा रखे थे. इतना ही नहीं अब फिल्म शुरू होने वाली है, यह सोचकर बाबी देओल ने दिसंबर 2015 से मीडिया के सामने आना शुरू कर दिया था. वह अपने भाई सनी देओल के संग भी फिल्म के प्रमोशन के समय नजर आए थे. सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था. पर जनवरी 2016 के आते ही एक बार फिर मामला अटक गया.

जनवरी 2016 में एक तरफ ‘‘घायल वंस अगेन’’ की रिलीज टलकर 5 फरवरी हो गयी, तो दूसरी तरफ बाबी देओल की पत्नी तान्या देओल का अपने स्व.पिता की तीन सौ करोड़ की संपत्ति के मुकदमे में तान्या के खिलाफ अदालत का फैसला आया. तीसरी तरफ फिल्म की शूटिंग शुरू नहीं हो पायी. काफी उठापटक के बाद सनी देओल अपनी फिल्म ‘‘घायल वंस अगेन’’ को 5 फरवरी को रिलीज करने में सफल हो गए और वह अपने बेटे करण की फिल्म ‘‘पल पल दिल के पास’’ को शुरू करने की योजना को अमली जामा पहनाते, उससे पहले ही फरवरी के प्रथम सप्ताह में ही यह साफ हो गया कि अब ‘‘चंगेज’’ नहीं बनेगी. इस खबर से निराश होकर बाबी देओल ने अपनी बढ़ाई हुई दाढ़ी भी कटवा डाली.

बाबी देओल की फिल्म ‘‘चंगेज’’ के बंद होने की खबर ने सनी देओल के सामने धर्म संकट खड़ा कर दिया. सनी देओल को नजदीक से जानने वाले अच्छी तरह से जानते हैं कि सनी देओल के लिए अपना परिवार बहुत अहमियत रखता है. धर्मेंद्र ने अपने पूरे परिवार को एक कड़ी में बांधकर रखा हुआ है. सनी देओल जितना अपने बेटे करण को चाहते हैं, उतना ही वह अपने छोटे भाई बाबी देओल को भी चाहते हैं. सनी के लिए बेटे करण व भाई बाबी दोनों का करियर अहमियत रखता है. वास्तव में बाबी देओल की ‘‘चंगेज’ की ही तरह करण देओल की फिल्म ‘‘पल पल दिल के पास’’ भी ‘‘विजेता फिल्मस’ के बैनर तले ही बननी हैं. ‘‘चंगेज’ की शूटिंग पहले शुरू होनी थी. पर वह रूक गयी. इससे सनी देओल सबसे ज्यादा परेशान है. उनकी समझ में नही आ रहा है कैसे वह अपने भाई बाबी देओल के करयिर को अधर में छोड़कर अपने बेटे करण की लांचिंग फिल्म ‘‘पल पल दिल के पास’’ पर काम शुरू करें.

उधर बालीवुड में देओल परिवार और ‘‘विजेता फिल्मस’’ के आर्थिक हालात को लेकर भी कई तरह की खबरें गर्म हैं. इन खबरों के जवाब में ‘‘विजेता फिल्मस’’ की तरफ से बार बार स्पष्टीकरण दिया जा  रहा है कि ‘विजेता फिल्मस’ की आर्थिक स्थिति अच्छी है और सनी देओल का स्टूडियो ‘‘सनी सुपर साउंड’’ भी अच्छा चल रहा है. इसके बावजूद बालीवुड के पंडितों को दाल में काला ही नजर आ रहा है  

Tags: