पूर्वोत्तर भारत में गरमी के मौसम में घूमने लायक कई अच्छे शहर है जो प्राकृतिक संपदा के साथ आधुनिकता का बेहतर तालमेल रखते हैं. पर्यटन के लिए पूर्वी कौरिडोर में दार्जिलिंग, कलिंगपोंग, कोलकाता, भुवनेश्वर, पुरी और कोणार्क प्रमुख स्थल हैं. यहां पहाड़, झरने व झील देखने में बहुत सुंदर लगते हैं. ऐतिहासिक पर्यटन के साथसाथ यहां बागबानी को भी देखासमझा जा सकता है.  प्रदूषण यहां न के बराबर है. ये सभी स्थल शुद्ध हवा के साथ मन को शांति देते हैं.

दार्जिलिंग

दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल का खूबसूरत शहर है. यह चाय के साथ मसालों के लिए भी प्रसिद्ध है. इस का नजदीकी रेलजोन जलपाईगुड़ी है. कोलकाता से दार्जिलिंग मेल तथा कामरूप ऐक्सप्रैस जलपाईगुड़ी जाती हैं. दिल्ली से गुवाहाटी डिब्रूगढ़ राजधानी ऐक्सप्रैस यहां तक आती है. इस के अलावा टौय ट्रेन से जलपाईगुड़ी से दार्जिलिंग 8-9 घंटे में पहुंचा जा सकता है.

दार्जिलिंग सड़कमार्ग से सिलीगुड़ी से 2 घंटे की दूरी पर स्थित है. कोलकाता से सिलीगुड़ी के लिए बहुत सी सरकारी व निजी बसें चलती हैं. दार्जिलिंग हवाईमार्ग से भी जुड़ा हुआ है. बागडोगरा (सिलीगुड़ी) यहां का नजदीकी हवाईअड्डा (90 किलोमीटर) है. यह दार्जिलिंग से 2 घंटे की दूरी पर है. यहां से कोलकाता और दिल्ली के लिए प्रतिदिन उड़ानें संचालित की जाती हैं. इस के अलावा गुवाहाटी तथा पटना से भी यहां के लिए उड़ानें हैं.

दार्जिलिंग के टाइगर हिल का मुख्य आनंद चढ़ाई करने में है. हर सुबह पर्यटक इस पर चढ़ाई करते हुए मिल जाएंगे.  इसी के पास कंचनजंघा चोटी है. टाइगर हिल से कंचनजंघा और एवरेस्ट दोनों चोटियों को देख सकते हैं.  दोनों चोटियों की ऊंचाई में मात्र 827 फुट का अंतर है. वर्तमान में कंचनजंघा विश्व की तीसरी सब से ऊंची चोटी है. कंचनजंघा को सब से रोमांटिक माउंटेन की उपाधि से नवाजा गया है. इस की सुंदरता के कारण पर्यटकों ने इसे इस उपाधि से नवाजा है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT