वाकई वक्त के साथ बहुत कुछ बदल जाता है. अब शादी और शादियों के फोटोग्राफ्स को ही ले लीजिये, वक़्त के साथ इसमे भी बहुत सारे बदलाव आए हैं. अगर आपने कभी अपने माता-पिता के शादी की फोटोज देखी हैं, तो उसमें आपको शायद ही कोई ऐसी फोटो देखने को मिलेगी, जिसमें वो कैमरे में सीधा देख रहे हो. अधिकतर फोटोज मे उनकी आंखें या तो नीचे या कैमरे से कहीं अलग देखती हुई मिलेंगी. वो जमाना अलग था, वो वक़्त अलग था. जैसे वक़्त बदला है, वैसे ही अब वेडिंग फोटोग्राफी का तरीका और चलन भी बदल गया है. अब शादी के बंधन से एक वाला जोड़ा कैमरे से नजरें नहीं चुराता, बल्कि एक से बढ़कर एक पोसेस में फोटोस क्लिक करवाता है. आज के वक़्त में उन्हे कुछ अलग चाहिए, कुछ ऐसा जो बाकियों से बेहतर हो. कुछ ऐसा जो विशेष हो, जो उन्हें सोश्ल मीडिया पर खूब सारे लाइक्स बटोर कर दे. आज के जोड़े यह बखूबी समझते हैं कि ये वेडिंग फोटोज ना सिर्फ यादों के रूप में उनके साथ रहेंगे, बल्कि सोशल मीडिया पर उन्हें खूब सारे लाइक्स और वाह-वाही भी बटोर कर देंगे.

ऐसे में अब ये कहना भी गलत होगा की दूल्हा-दुल्हन के आलावा बाकी सबको नजरअंदाज कर दिया जाता है. दूल्हा-दुल्हन सहित उनके परिवार वाले भी चाहते हैं कि सबकी फोटोज ली जाये, ताकि बाद में यादों के तौर पर उनको सहेज कर रखा जा सके. फिर भी इन सबके बीच सबसे ज्यादा फोकस तो दूल्हा और दुल्हन पर ही होता है. इसका कारण भी समझना बहुत आसान है. शादी किसी के भी जीवन के सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक दिन होता है. ये एक ऐसा दिन होता है, जिसके लिए आप ना जाने कब से और कैसे-कैसे सपने संजों कर रखते हैं. ऐसे में शादी वाले दिन इतने सारे रस्मो-रिवाज़ और गतिविधियों के ज़बीच ये मनोरम दिन कैसे निकल जाता है, पता भी नहीं चलता.

ये भी पढ़ें- परफेक्ट सेल्फी लेने में ये 8 टिप्स करेंगे आपकी मदद

इससे परे आज के वर्तमान समय वाले सोशल मीडिया सैवी कपल्स अपने शादी वाले दिन के लिए ऐसे फोटोग्राफर्स को हायर करते हैं, जो उनके इतने बड़े दिन को ज्यादा रोचक, रचनात्मक, और फनी, यानी कैंडिड तरीके से वीडियो/फोटोज़ में कैद करें. आज के मौडर्न कपल्स ना सिर्फ चलते हुए ट्रेंड्स से खुद को वाकिफ रखते हैं, बल्कि अपनी शादी के लिए सोशल मीडिया पर अपने इजात किये हुए हैशटैग्स भी इस्तेमाल करते हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को उनकी शादी के बारे में पता चले. ये तो हुई सोशल मीडिया की बात, अब बात करते हैं तकनीक की. तकनीक और उसके इजात किये तरीके भी अच्छी फोटोज की इच्छा रखने वाले लोगों का खूब साथ निभा रहे हैं. ये तकनीक की ही देन है कि आज हमें शादियों और आउटडोर सेलेब्रेशन में ड्रोन्स भी देखने को मिल जाते हैं, जो एक से बढ़कर एक तसवीरें और वीडियोस कैद कर रहे होते हैं. इतनी सारी तकनीकों और सोशल मीडिया की मौजूदगी से वाकई बहुत बदलाव आया है.

मामला सिर्फ यहीं नहीं ठहरता, कपल्स अपने शादी वाले दिन को कैसे याद करना चाहते हैं, वो उसके लिए भी बहुत ही अनोखे विकल्प चुनते हैं. कुछ कपल्स कैंडिड फोटोग्राफी चुनते हैं, तो वहीँ कुछ पोज़्ड फोटोग्राफ्स चुनते हैं. वैसे तो पोज्ड़ फोटोग्राफ्स देखने में बहुत ही सुन्दर और प्यारे लगते हैं, मगर कोई भी जोड़ा अपनी पूरी शादी के लिए पोज़्ड फोटोज नहीं चाहता. ऐसा इसलिए हैं, क्यूंकि पोज़्ड फोटोज में एक से ही हावभाव, मुस्कान और तरीके नज़र आते हैं. इसी वजह से नये फोटोग्राफी के तरीके ज़्यादा से ज़्यादा नेचुरल दिखाने के तरीके लेकर आ रहे हैं. इसकी तैयारी के तौर पर ज़्यादा से ज़्यादा फोटोग्राफर्स अब डिजिटल फोटोग्राफी को अपना चुके हैं. वो अब फोटोग्राफी के लिये एचडी यानी हाई डेफिनिशनडीएसएलआरकैमरा और एसडी मार्क जैसे कैमरा का इस्तेमाल करते हैं. ऐसे हाई क्वालिटी कैमरों से फोटोग्राफी करने का फायदा ये होता है कि आपकी फोटोज और वीडियोस बहुत ही उच्च और बेहतर क्वालिटी कि होती हैं.

आज के समय में वेडिंग फोटोग्राफी के भी तीन चरण होते हैं. एक है शादी से पहले कि फोटोग्राफी, जिसे प्री-वेडिंग फोटोग्राफी कहते हैं. दूसरी है शादी के दिन कि फोटोग्राफी, और तीसरी शादी के बाद कि फोटोग्राफी, यानी पोस्ट वेडिंग फोटोग्राफी. अब इतनी सारी फोटोज देख कर एक बात तो वाकई सच लगती है, यहां हर तस्वीर कुछ कहती है.

ये भी पढ़ें- गूगल प्लस 2 अप्रैल से हो रहा है बंद, जानिए पूरी खबर

शादी की खूबसूरत यादों को संजोकर रखना कौन नहीं चाहता लेकिन अब सिर्फ शादी ही नहीं, प्री-वेडिंग और पोस्ट-वेडिंग पलों को भी सहेजा जा रहा है. अब वो दौर गया जब शादी के दिन और उससे पहले इंगेजमेंट, हल्दी और मेहंदी तक की रस्में सहेजी जाती थीं. बौलीवुड से शुरू हुआ प्री- पोस्ट वेडिंग फोटो शूट, पहले मेट्रो शहरों तक पहुंचा और अब छोटे-बड़े लगभग हर शहर में इसका क्रेज तेजी से बढ़ रहा है.

प्री-वेडिंग फोटोग्राफी

आज के समय में प्री-वेडिंग शूट का क्रेज बढ़ता ही जा रहा है. प्री-वेडिंग शूट का क्रेज आज से दो-तीन साल पहले बहुत कम था. लेकिन आजकल हर कोई प्री-वेडिंग शूट का दीवाना हो गया है. प्री-वेडिंग की खास बात ये है की दूल्हा-दुल्हन आसानी से एक-दूसरे को समझ पाते है.

बात अगर हम पर्फेक्शन की करे तो एक बेहतर वेडिंग शूट तभी अच्छा हो पाता है जब पूरा वेडिंग शूट एक ही फोटोग्राफर द्वारा किया गया हो इससे फोटोग्राफर के साथ ट्यूनिंग सही रहती है.

आजकल हर किसी को प्री-वेडिंग शूट कराना होता है. प्री-वेडिंग शूट की लोकेशन कस्टमर की चॉइस पर डिपेंड है. किसी को पहाड़ पसंद है, किसी को बीच पसंद है, तो किसी को किले या महल पसंद हैं. उनकी पसंद के मुताबिक जिम कौर्बेट, नीमराणा, उदयपुर, जयपुर, गोवा, केरल, दुबई, मलेशिया, थाईलैंड जाकर आपके बजट के मुताबिक प्री-वेडिंग शूट करने का खर्च 1 लाख से लेकर 5 लाख तक का आता है.

कई लोग ऐसे होते है जो इतना बजट उठा नहीं पाते. ऐसे में कम बजट वालों के लिए फोटोग्राफर्स आउटडोर लोकेशंस के नाम दिल्ली के लोदी गार्डन, हुमायूं का मकबरा, नेचर पार्क और मान्यूमेंट्स में शूट करते थे. लेकिनअब पुलिस की सख्ती बढ़ती जा रही है और इन जगहों पर कमर्शल शूटिंग की इजाजत नहीं है. ऐसे में, इस प्रॉब्लम के सॉल्यूशन के तौर पर एनसीआर में कुछ ऐसे स्टूडियो खुल गए हैं, जहां पर बाकायदा फिल्मों की तरह सेट लगाकर कपल्स का प्री-वेडिंग शूट किया जाता है. आजकल कपल्स का रुझान भी सेट्स की ओर ज्यादा है, क्योंकि वहां पर शूट करना काफी आसान होता है. वहां आपको कोई टेंशन नहीं है, तो शूटिंग से लेकर कौस्ट्यूम तक अवेलेबल हैं.

कई लोग अपना प्री-वेडिंग शूट एक कहानी के रूप में शूट करवाना पसंद करते है.

पोस्ट-वेडिंग फोटोग्राफी

वेडिंग शूट जहां रिश्ता तय होने के बाद से शादी होने के पहले तक किया जा रहा है. वहीं पोस्ट वेडिंग के फोटो शूट शादी के तुरंत बाद हो रहे हैं. इस बार प्री की तरह पोस्ट वेडिंग शूट में भी ज्यादा रुचि ली जा रही है. ये फोटोशूट कपल हनीमून के दौरान करा रहे हैं. जो कपल शादी के तुरंत बाद हनीमून पर नहीं जा पाते वे शहर के आसपास की लोकेशन पर ही फोटोशूट कराते हैं. ये फोटोशूट खासतौर पर तब तक किया जाता है जब हाथों से मेंहदी की रंगत न उतरे.

ये भी पढ़ें- व्हाट्सएप पर आया ये खास फीचर

अब नौर्मल फोटोशूट की बजाए हाईटेक्नोलौजी की मदद से होने वाले फोटोशूट पसंद किए जा रहे हैं. इसमें ड्रोन कैमरा का ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है. पोस्ट-वेडिंग शूट वेडिंग शूट का आखिरी शूट होता है जिसमे कपल काफी रोमांटिक पोज में शूट करवाते नजर आते है.

कई कपल्स थीम के अनुसार शूट करवाना भी पसंद करते है.

Tags:
COMMENT