स्मार्टफोन में जैसे-जैसे एडवांस स्पेसिफिकेशन बेहतर होते जा रहे हैं, लोगों की चिंता इसकी बैटरी लाइफ को लेकर बढ़ती जा रही है. स्मार्टफोन डिस्प्ले बैटरी पावर की बहुत ज्यादा खपत करता है और हल्की थीम से देर तक बैटरी बनी रहती है. यही वजह है कि डार्क मोड लोकप्रिय हो रहा है.

लेकिन गूगल ने कई वर्षों तक अपनी मटेरियल थीम में सफेद कलर पर जोर दिया. लेकिन अब गूगल ने एक चौंकाने वाली रिपोर्ट दी है. रिपोर्ट में पुष्टि किया गया है कि एंड्रायड फोन्स को डार्क मोड में रखने पर कम ऊर्जा खर्च होती है और बैटरी लाइफ बचती है. गूगल ने खुलासा किया है कि किस प्रकार आपका फोन बैटरी की खपत करता है. उन्होंने इसका खुलासा इस हफ्ते हुए एंड्रायड डेव समित में किया और डेवलपरों को बताया कि वे बैटरी की अधिक खपत रोकने के लिए अपने ऐप्स में क्या कर सकते हैं.

रिपोर्ट में आगे कहा गया है, बैटरी की खपत करनेवाला सबसे बड़ा कारन स्क्रीन की ब्राइटनेस है, और स्क्रीन का कलर भी है. डार्क मोड कुल मिलाकर औपरेटिंग सिस्टम या एप्लिकेशनों के कलर को बदलकर ब्लैक कर देता है. इंटरनेट दिग्गज ने प्रजेन्टेशन में दिखाया कि किस प्रकार से डार्क मोड फुल ब्राइटनेस स्तर पर ‘सामान्य मोड’ की तुलना में 43 फीसदी कम बैटरी की खपत करता है, जबकि पारंपरिक रूप से बहुत ज्यादा व्हाइट का इस्तेमाल किया जा रहा है.

Tags:
COMMENT