ज्यादा समय नहीं हुआ जब भारत में गूगल की टीम अपने 360 डिग्री कैमरों, भारी भरकम मैपिंग एंड स्ट्रीट व्यू एक्विपमेंट्स के साथ यह सोचकर आई थी कि कि गूगल मैप की तरह गूगल स्ट्रीट व्यू को भी यहां लांच कर दिया जाएगा. लेकिन भारत के संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय को लगा कि इससे लोगों की निजता भंग होगी. लिहाजा उसने इस प्रोजेक्ट को मंजूरी नहीं दी और गूगल अपना डिजिटल बोरिया बिस्तर लेकर उन देशों की तरफ चल पड़ा जिन्हें अपनी प्राइवेसी के भंग होने और इस फीचर से ऐतराज नहीं था.
बहरहाल अगर यह फीचर हमारे यहां भी होता तो शायद हम भी बाकी देशों की तरह हजारों मील दूर बैठकर एक क्लिक कर अपने गांव, घर की तंग और संकरी गलियों के लाइव दर्शन कर लेते और वहीं से बैठे-बैठे बता देते कि हमारे घर के छत पर कितने कौवे कांवकांव कर रहे हैं या फिर नुक्कड़ पर किसका लौंडा कोचिंग से बंक मारकर सिगरेट फूंक रहा है या किसकी लड़की को स्कूटी पर घुमा रहा है. लेकिन यह हो न सका.

COMMENT