लेखक-मंजुला अमिय गंगराड़े

कई दिनों बाद आज घर की छत पर जाने की फुरसत मिली.

सब कुछ कितना बदला हुआ था. बादल,पेड़, हवा, चमकती धूप और पंछियों का कलरव.

चारो ओर फैली एक अजीब सी शांति.

सड़क पर वाहनों का शोर दूर दूर तक नहीं था.

सब कुछ अच्छा होते हुए भी मन में ये उदासी कैसी है?

क्या धरती थम गई है या समय रुक गया है.क्यूं

गली मोहल्ले खामोश से है.इतनी चुप्पी कुछ चुभन का ऐहसास दे रही थी.

ये भी पढ़ें-19 दिन 19 कहानियां: एक दिन अचानक

मैंने एक उदास बेज़ार सी नज़र छत पर चारो ओर घुमाई,  बस यूहीं बिना किसी मकसद के...... "अरे ये क्या? ये तो गली में खेलने वाले बच्चों की क्रिकेट बॉल है". जो संभवतः लॉकडॉउन के पहले छत पर आई थी. उनकी बॉल छत के एक कोने में बेजान सी पड़ी थी.सच, बच्चों के साथ कितनी जीवंत नज़र आती थी.

मन के किसी कोने में हूक सी उठ रही थी.मुझे याद आने लगे वो पल जब बच्चे अपनी पूरी ताकत से बेट घुमा कर बॉल को मारते और वो सीधी आ पहुंचती कभी हमारी छत पर, तो कभी बाल्कनी में, तो कभी मुंडेर से टकरा जाती.जब ज़ोर का शोर मचता तो समझो आज फिर से छत पर बॉल गई है.फिर दरवाज़े की घंटी..

प्रारम्भ में थोड़ा सब्र दिखता एक बार ही घंटी बजती.मगर अगले ही पल बेसब्री से कई बार लगातार घंटी बज रही होती. जब तक आप नींद से थोड़ा जाग्रत हो कर दरवाज़े की ओर रुख़ करे, तब तक तो जैसे घंटी  रुकने का नाम ही नहीं लेती.इस रोज-रोज की घंटी और छत पर आ धमकने वाली गेंद की वजह से दोपहर के आराम में खलल पड़ने लगा.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...