पूर्व कथा :

शर्मीले विनोद और निर्भीक व तेजतर्रार पूजा की दोस्ती धीरेधीरे प्यार में बदलती चली गई. वे दोनों रोज खेतों में घूमतेफिरते, साथ समय बिताते. लेकिन परीक्षा परिणाम घोषित होते ही विनोद को उस के पिता ने आगे की पढ़ाई के लिए दिल्ली जाने का आदेश दे दिया. यह सुन कर पूजा बहुत उदास हो गई और विनोद को दिल्ली न जाने के लिए मनाती रही.

COMMENT