फोटोग्राफी भी अपनी तरह से एक कहानी बयां करती है. कहानी शब्दों में बयान होती है. फोटोग्राफी कैमरे के जरिये कहानी को व्यक्त करती है. फोटोग्राफर भी एक तरह का कहानीकार ही होता है वह कैमरे के जरीये कहानी को बयां करता है.

लखनऊ के रहने वाले पंकज कपूर एक ऐसे ही वन्यजीव फोटोग्राफर है. वह कहते है फोटोग्राफी मेरा जुनून और पेशा है, दूसरे शब्दों में कहे तो “अगर मैं क्लिक नहीं कर रहा हूं, तो मैं जीवित नहीं हूं. मैं पिछले 9 वर्षों से वन्यजीव फोटोग्राफी कर रहा हूं और मेरा क्रेज मुझे लगभग हर जगह ले गया है. इनमें प्रकृति और वन्यजीव प्रमुख है.‘

Tags:
COMMENT