3 जुलाई को जूलियन असांजे अब अपना 53वां जन्मदिन अपने ढंग से मना सकते हैं. 3 दिन पहले ही जब वे साइपन के अदालत से बाहर निकले तो चेहरे पर मुसकराहट थी. कोर्ट के बाहर मौजूद उन के कुछ प्रशंसकों और समर्थकों ने उन का स्वागत तालियां बजा कर किया तो उन्होंने भी हाथ हिला कर अभिवादन स्वीकारते किसी सैलिब्रेटी की तरह प्रतिक्रिया दी.

साइपन उत्तरी अमिरिका द्वीप समूह के तहत आता है जिस का प्रशासनिक नियंत्रण अमेरिका करता है. जूलियन असांजे मामले की सुनवाई की औपचारिकताएं निभा रहे साइपन अदालत के जज रमोना मैग्लोना ने उन्हें सब से पहले जन्मदिन की अग्रिम शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि अगले सप्ताह आप का जन्मदिन है. मुझे उम्मीद है कि आप अपनी नई जिंदगी सकारात्मक तरीके से शुरू करेंगे.”

जज रमोना मैग्लोना की तरह हर कोई उम्मीद ही कर सकता है कि खुराफाती दिमाग के मालिक जूलियन असांजे अपने परिवार जिसमे बुजुर्ग पिता, पत्नी व दो बच्चे हैं के साथ सुकून की जिंदगी जिएं लेकिन उन का अतीत देखते इस की गारंटी कोई नहीं ले सकता. वह ऐसे वक्त में एक डील के तहत रिहा हो कर अपने देश आस्ट्रेलिया पहुंचे हैं जब अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव की गहमागहमी है, हालांकि इस रिहाई से ऐसा लग नहीं रहा कि दुनिया के सब से ताकतवर देश के मुखिया के चुनाव पर कोई खास फर्क पड़ेगा.

लेकिन एक वक्त में इन्हीं जूलियन असांजे ने अमेरिका में ऐसी उथलपुथल मचा दी थी कि दुनियाभर में तहलका मच गया था. हर किसी की जुबान पर जूलियन असांजे और उन से भी ज्यादा विकीलीक्स का नाम था. आइए संक्षेप में इस दिलचस्प मामले को क्रमवार समझें.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...