रोजगारों की घोर कमी के बीच कुछ रोज़गार ऐसे हैं जिन के लिए योग्य उम्मीदवार नहीं मिल रहे. डेटा साइंस, मशीन लर्निंग और आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (एआई) के क्षेत्र में जितने लोग नौकरी तलाश रहे हैं, उस से दोगुना नौकरियां मौजूद हैं.

एक औनलाइन हाइब्रिड एजुकेशन कंपनी की अध्यन रिपोर्ट के मुताबिक, डेटा साइंस और मशीन लर्निंग में 50 हज़ार से ज्यादा पद योग्य उम्मीदवारों की कमी के चलते खली पड़े हैं. इन पदों के लिए प्रोफेशनल्स तो हैं लेकिन वे योग्य नहीं हैं. ऐसे में प्रोफेशनल्स को अपनी स्किल्स यानी कुशलता को अपग्रेड करना चाहिए.

दरअसल, कालेज में डेटा साइंस, मशीन लर्निंग और एआई के बारे में स्टूडेंट्स को जो सिखाया जा रहा है, वह इंडस्ट्री के किसी काम का नहीं है. डेटा साइंस और एआई की पढ़ाई जिन लोगों ने पहले की थी, उन्हें अपनी स्किल को अपग्रेड करना होगा. आज कई चीजें औटोमेटेड हो रही हैं और इन से नई उम्मीदें पैदा हो रही हैं. कंपनियों को इस मामले में टैलेंट की कमी का सामना करना पड़ रहा है.

रिपोर्ट के मुताबिक, एनालिटिक्स और डेटा साइंस प्रोफेशनल्स के लिए बैंकिंग और फाइनैन्शिअल सर्विसेज सबसे बड़ा मार्किट है. पिछले वर्ष इन प्रोफेशनल्स के लिए इन दोनों सेक्टरों में 44 फीसदी नौकरियां पैदा हुई थी. एनालिटिक्स प्रोफेशनल्स के लिए ई-कौमर्स सेक्टर दूसरा बड़ा मार्किट है, जिस का इस सेगमेंट के जौब में पिछले साल 12 फीसदी योगदान था.

डेटा साइंस प्रोफेशनल्स के लिए जिन दूसरे सेक्टर्स में जौब देखने को मिल रहे हैं उन में हेल्थकेयर, एनर्जी एंड यूटिलिटीज, टेलीकोम, मीडिया, रिटेल, औटोमोबाइल और ट्रेवल सेक्टर्स शामिल हैं. अध्ययन के मद्देनज़र, इन क्षेत्रों में नौकरियों को पाने के लिए क्लाउड, बिग डेटा, एनालिटिक्स, मशीन लर्निंग और एआई जैसी स्किल्स डेटा साइंस प्रोफेशनल्स के लिए काफी अहम् हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT