लड़कियां पढ़ाई में तेजी से आगे आ रही हैं. ऐसे में अब उन के लिए नौकरियों के मौके बढ़ रहे हैं. वे सरकारी नौकरियों के साथसाथ प्राइवेट नौकरियां भी करने लगी हैं. उन्हें प्राइवेट नौकरियां इसलिए भी लुभा रही हैं, क्योंकि शादी के बाद नौकरी छोड़ना आसान होता है.

सरकारी नौकरियों की आस छोड़ कर लड़कियों ने जब से प्राइवेट नौकरियों की तरफ रुख करना शुरू किया है तब से उन के लिए रोजगार के मौके बढ़ गए हैं. छोटेबड़े शहरों में बहुत तेजी से प्राइवेट स्कूल, नर्सिंगहोम, शौपिंग माल और तमाम तरह के संस्थान खुल रहे हैं. इन में टीचर, नर्स, सेल्सगर्ल वगैरह के रूप में लड़कियों को नौकरियां मिल रही हैं.

इस के लिए जरूरी है कि वे टीचर टे्रनिंग कोर्स, नर्सिंग कोर्स और पर्सनैलिटी निखारने के लिए कोर्स कर लें. जिस लड़की को टीचर बनना है, वह अगर बीऐड कर ले तो पढ़ाने की नौकरी मिलना आसान हो जाता है.

इस में छोटे से छोटा स्कूल भी शुरुआत से ही 4,000 से 5,000 रुपए हर महीने देने लगता है, जबकि अच्छा स्कूल 10,000 से ऊपर तनख्वाह देना शुरू करता है.

टीचिंग का कैरियर लड़कियों के लिए पहले से ही बहुत अच्छा रहा है और अब तो इस में आगे बढ़ने के मौके भी खूब हो गए हैं.

नर्स बनने के लिए नर्सिंग की टे्रनिंग करना जरूरी होता है. अब तो इस के लिए कई प्राइवेट संस्थान भी खुल गए हैं. अगर कोई लड़की किसी संस्थान से ट्रेनिंग नहीं ले सकती है तो वह किसी अच्छे नर्सिंगहोम में भी इस काम को सीख सकती है. वहां वह जो सीखती है उसी के आधार पर उसे अच्छी तनख्वाह मिल सकती है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT