ग्राहकों को लुभाने के लिए कंपनियां जैसे नएनए प्रोडक्ट लौंच करती हैं वैसे ही धर्म के दुकानदार भी नएनए पाखंड परोसते रहते हैं. लेकिन यह शुद्ध ठगी है, इस से दूर रहने में ही भलाई है.

केवल मध्य प्रदेश ही नहीं, बल्कि पूरे देश की राजनीति में बाबाओं, धर्मगुरुओं, महामंडलेश्वरों, तांत्रिकों और ज्योतिषियों सहित शंकराचार्यों का दखल बहुत बढ़ रहा है. 2019 के लोकसभा चुनाव में धर्म के इन दुकानदारों ने तबीयत से चांदी काटी थी. लेकिन सब से ज्यादा चर्चाओं में मध्य प्रदेश रहा जहां लगातार 15 साल भाजपा का राज रहा था.

Tags:
COMMENT