नीट परीक्षा पर उठे सवालों के बीच सब से अधिक चर्चा एनटीए की हो रही है. एनटीए यानी नैशनल टेस्टिंग एजेंसी. जिस की स्थापना 2017 में हुई थी, जो मानव संसाधन मंत्रालय के अधीन आती है. यह देश के उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश और कई सरकारी नौकरियों के लिए परीक्षा आयोजित करती है. इस एजेंसी का मुख्य काम उच्च शिक्षा और विभिन्न सरकारी संस्थानों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर पर कुशल, पारदर्शी और अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप परीक्षाएं आयोजित करना है.

नैशनल टेस्टिंग एजेंसी की स्थापना भारतीय संस्था पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत हुई थी. ये स्वायत्त संस्था है जो देश के उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश और छात्रवृत्ति के लिए एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करती है. इस एजेंसी के चेयरपर्सन प्रो. प्रदीप कुमार जोशी हैं जोकि यूपीएससी के भी पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं. इस के महानिदेशक आईएएस सुबोध कुमार सिंह हैं. इस के अलावा कई संस्थानों के निदेशक और कुछ विश्वविद्यालयों के कुलपति भी एनटीए की गवर्निंग बौडी में आते हैं.

नैशनल टेस्टिंग एजेंसी के पास एजुकेशन एडमिनिस्ट्रेटिव, एक्सपर्ट्स, रिसर्चर और असैसमेंट डेवलपर की टीम होती है. नैशनल टेस्टिंग एजेंसी पर कई बड़ी परीक्षा कराने का जिम्मा है. एजेंसी की तरफ से कौमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट, जौइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन मेन्स के अलावा एजेंसी यूजीसी नेट परीक्षा का आयोजन करती है. मैडिकल फील्ड की बड़ी परीक्षा नैशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट-अंडर ग्रेजुएट नीट का आयोजन कराती है.

इस के साथसाथ राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी कौमन मैनेजमेंट कम एडमिशन टेस्ट, इंडियन इंस्टीट्यूट औफ फौरेन ट्रेड एंट्रेंस टेस्ट, नैशनल इंस्टीट्यूट औफ फैशन टैक्नोलौजी एंट्रेंस एग्जाम, जौइंट इंटीग्रेटेड प्रोग्राम इन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट, औल इंडिया आयुष पोस्ट ग्रेजुएट एंट्रेंस टेस्ट, जैसी परीक्षाओं का आयोजन भी करती है. इन में से कुछ परीक्षा वर्ष में एक बार तो कुछ साल में दो आयोजित की जाती हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...