क्या हम भारतीय कामचोर हैं? क्या यह एक आम भारतीय की आदत है कि वह अलसाया सा रहता है? सरकारी दफ्तरों में तो यह आम नजारा होता है कि कर्मचारी या तो देर से आते हैं, सीट से नदारद मिलते हैं या फिर ऊंघते हुए से दिखाई देते हैं.

हालांकि इधर कुछ वर्षों में देश की कार्यसंस्कृति को ले कर काफी कुछ कहासुना गया है. जैसे, दफ्तरों में बायोमीट्रिक हाजिरी के प्रबंध किए गए हैं, लेकिन जब कभी सरकार के मंत्रियों ने औचक निरीक्षण किया, बहुतेरे कर्मचारियों को अपनी सीट से या तो गायब पाया या फिर उन्हें लेटलतीफी की आदत का शिकार पाया.

Tags:
COMMENT