सपा नेता और प्रौपर्टी डीलर चंद्रपाल ने गुंडे दिलीप को न केवल जेल जाने से बचाया बल्कि उसे अपना सुरक्षा गार्ड बना कर साथ भी रख लिया. सुरक्षा के लिए उसे हथियार भी दे दिया. जब दिलीप की नजरें चंद्रपाल की बीवी सोनी से लड़ीं तो दिलीप ने उसी हथियार से चंद्रपाल की हत्या कर दी.

Tags:
COMMENT