राजा बोला रात है,

रानी बोली रात है,

मंत्री बोला रात है,

सब बोले रात है,

ये सुबह सुबह की बात है.

पूर्वांचल के मशहूर कवि गोरख पांडे की एक कविता के इस हिस्से को वही लोग समझ पाएंगे जिनकी गहरी दिलचस्पी साहित्य में होगी. हिंदी व मराठी फिल्मों के नामी अभिनेता और फिल्म निर्देशक अमोल पालेकर की ताजी बेबाकी का इन पंक्तियों का संबंध जोड़ा है उभरती अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने जो मौजूदा दौर की राजनीति से अमोल जितनी ही आहत हैं. स्वरा उस चर्चित वाकिए या हादसे कुछ भी कह लें पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहीं थीं जिसमें अमोल पालेकर को अपना पूरा भाषण नहीं देने दिया गया था.

Tags:
COMMENT