यह कहने समझने की शायद जरूरत नहीं कि सैक्स 100 मर्ज की एक दवा है, रिफ्रैसमैंट टौनिक है, एक अच्छा व्यायाम है, वगैरह वगैरह...

यों तो भारतीय समाज का एक बड़ा तबका सैक्स पर खुल कर बात नहीं पसंद करता व सैक्स आनंद की चीज है, यह तो पता होता है पर सिर्फ रात के अंधेरे में ही. कमरे की बत्तियों को बुझा कर सैक्स का लुत्फ उठाने वालों के लिए यह भले ही एक सामान्य प्रक्रिया लगती हो, पर विशेषज्ञों का मानना है कि सैक्स में नए नए प्रयोग शारीरिक सुख के साथ साथ मानसिक खुशी भी देती है.

Digital Plans
Print + Digital Plans
COMMENT