सवाल

मैं 23 साल की लड़की हूं और पढ़ाई में भी काफी अच्छी हूं. मैं टीचर बनना चाहती हूं और फिलहाल घर पर ट्यूशन भी पढ़ाती हूं. लेकिन मेरी समस्या यह है कि हमारे घर में पढ़लिख कर नौकरी करने वाली लड़की को ज्यादा अच्छा नहीं माना जाता है.

मेरे मातापिता की सोच है कि लड़की तो पराई होती है. लिहाजा, उस की शादी करो और छुटकारा पाओ. उन की इस सोच से मेरे सपने दम तोड़ रहे हैं. मैं क्या करूं?

जवाब

अपने सपनों को जिंदा रखें और उन्हें हकीकत में भी बदलें. आप के दकियानूसी घर वाले भी लड़कियों को बोझ समझते हैं और नहीं चाहते कि वे अपने पैरों पर खड़ी हो कर गैरत की जिंदगी जिएं.

आप ट्यूशन के साथसाथ टीचर की नौकरी के फार्म भी भरती रहें. अच्छे से तैयारी करेंगी, तो सरकारी नौकरी मिल भी सकती है. तब तक किसी प्राइवेट स्कूल में नौकरी की कोशिश करें.

जितना जल्दी हो सके, बीऐड की डिगरी ले लें. इस से नौकरी मिलने में सहूलियत रहेगी. अगर आप आज घर वालों के दबाव में आएंगी, तो जिंदगीभर पछताती रहेंगी.

अगर आपकी भी ऐसी ही कोई समस्या है तो हमें इस ईमेल आईडी पर भेजें- submit.rachna@delhipress.biz

सब्जेक्ट में लिखें- सरिता व्यक्तिगत समस्याएं/ personal problem

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...