सवाल

 मैं 46 वर्षीय पुरुष हूं, फिलहाल बेरोजगार हूं. घर में एक कमाऊ बेटा है और पत्नी गृहिणी है. पूरा समय टीवी पर समाचार या फिल्में देखते निकलने लगा है. घर का खर्च तो अच्छे से चल रहा है लेकिन बिना काम के मेरा मन दुखी रहता है. घर पर बेकार पड़े हाथ पर हाथ रख बैठे खाना और बेटे को इतनी मेहनत करते देखना अच्छा नहीं लगता. दूसरी नौकरी की तलाश जारी है लेकिन इस ग्लानि में कुछ अच्छा नहीं लग रहा है.

Tags:
COMMENT