धर्मों की घुसपैठ ने दुनिया का बंटाधार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. छोटेछोटे धार्मिक समूह दुनिया में जहां कहीं भी बसे हैं, वे अपनी कट्टर फितरत से दूसरे लोगों के लिए परेशानी का सबब बनते रहे हैं. धर्मों द्वारा अपनी कट्टर गतिविधियों से नफरत, हिंसा फैलाई जा रही हैं. दूसरे समुदायों के लोगों के साथ उन का मतभेद बढ़ते बढ़ते बात कानून व्यवस्था तक जा पहुंचती है और धर्म किसी भी देश की शांति व्यवस्था के लिए खतरा बनने लगते हैं.

Tags:
COMMENT