उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पौराणिक काल के उस संत की तरह लगते है जिसे बात बात पर गुस्सा आता है और श्राप देने को तत्तपर दिखते हैं. आज के समय में वो श्राप भले ही ना दे सकते हो पर मुकदमा कायम करा कर जेल जरूर भेजने की ताकत रखते हैं. उनका यह गुस्सा बार बार देखने को मिलता है कभी वह किसी आंदोलनकारी को जेल भेजने का काम करते हैं तो कभी धरना प्रदर्शन के नुकसान से क्षतिपूर्ति के लिए  जेल भेज दे की धमकी देते है.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT