इस साल के आखिर में 3 राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने जा रहे विधानसभा चुनावों को ले कर भारतीय जनता पार्टी ने अपना एजेंडा और रुख साफ कर दिया है कि वह अब मंदिर, मठों, आश्रमों और बाबाओं की जगह किसानों को फोकस करते हुए चुनावी जंग में कूदेगी. यह उस की दिली इच्छा नहीं, जबरन करना पड़ रहा है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 14 जुलाई, 2018 को मध्य प्रदेश के धार्मिक शहर उज्जैन से कहा था कि इस बार भी राज्य में शिवराज सिंह चौहान की अगुआई में भाजपा की सरकार बनेगी क्योंकि वे किसान के बेटे हैं. उन्होंने किसानी कब की पता नहीं क्योंकि तसवीरों में तो वे पूजन करते नजर आते हैं.

COMMENT