18वीं लोकसभा का पहला सत्र राष्ट्रगान के साथ शुरू हुआ. इसके बाद पिछले सदन के दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि दी गई. संसद में आज और कल नए सांसद शपथ लेंगे. इससे पहले भाजपा सांसद भर्तुहरि महताब को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने प्रोटेम स्पीकर की शपथ दिलाई थी. इस दौरान संसदीय कार्य मंत्री किरेन रिजिजू राष्ट्रपति भवन में मौजूद थे.

सत्ता पक्ष की तैयारी के बीच विपक्ष की अपनी अलग से तैयारी थी. विपक्ष के सभी सासंदोे ने तय किया था कि वह एक साथ संसद में प्रवेश करेंगे. सबके हाथ में संविधान की कौपी होगी. इंडिया ब्लौक के सभी सांसद सबसे पहले महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास एकत्र हुये. वहां से सांसद अपने साथ संविधान की एक कौपी लेकर संसद भवन में गये.

संसद भवन में समाजवादी पार्टी के सांसदों ने सबसे पहले प्रवेश किया. सभी के सिर पर लाल टोपी और लाल गमछा था. हाथ में संविधान की किताब थी. अखिलेश यादव के ठीक बगल उनकी पत्नी डिंपल यादव थी. रामगोपाल और उनके परिवार के दूसरे सदस्य आदित्य और धर्मेन्द्र के साथ अयोध्या के सांसद अवधेष प्रसद सबसे अधिक आकर्षण का केन्द्र थे.

जब सपा सांसदों का फोटो हो रहा था. इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे और सोनिया गांधी पीछे से आती दिखी. खडगे सफेद धोती कुर्ता में थे तो सोनिया ने बूटेदार कौटन की साडी और सफेद ब्लाउज पहन रखा था और आंखों पर ब्राउन कलर के शीशे वाला गौगल्स लगाया हुआ था. अखिलेश यादव ने उनके लिये रास्ता देते मल्लिकार्जुन खडगे से कहा कि ‘हम एक साथ है. आपसे बड़ी संविधान की किताब लेकर आये है.’ इस पर दोनो हंस दिये. मल्लिकार्जुन खडगे ने अखिलेश से कहा ‘देर आये दुरूस्त आये.’

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...