एक तरफ खेल को बढ़ावा देने के लिए सरकार बड़ीबड़ी बातें करती है वहीं दूसरी तरफ हौकी इंडिया ने सरकार को धमकी दी है कि अगर पर्याप्त धनराशि मुहैया न कराई तो राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में पुरुष और महिला टीम को नहीं भेजा जाएगा.

हौकी इंडिया के महासचिव नरेंद्र बत्रा का कहना है कि भारतीय खेल प्राधिकरण यानी साई ने उन्हें सूचित किया है कि 31 मार्च तक के लिए उन के पास 31 लाख रुपए बचे हैं. इस धनराशि से टीम हौकी को एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लेने के लिए नहीं भेजा जा सकता है.

Tags:
COMMENT