9/11 अमेरिका के लिए कभी ना भूल पाने वाली तारीख है. बीस साल पहले 11 सितम्बर 2001 को अलकायदा ने अमेरिका पर भीषण आतंकी हमला किया था. इस हमले का मास्टरमाइंड अलकायदा का सरगना ओसामा बिन लादेन था. अलकायदा अफगानिस्तान में आसानी से काम करने में सक्षम था क्योंकि उस समय की तालिबानी सरकार उसे संरक्षण देती थी. अमेरिका पर हमले के बाद अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने तत्कालीन तालिबान सरकार को हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को सौंपने के लिए कहा, लेकिन तालिबान ने इनकार कर दिया. उसके बाद अमेरिका के नेतृत्व में योजनाबद्ध तरीके से वहां से तालिबान को सत्ता से हटाने की कवायद शुरू हुई. आतंक को प्रश्रय देने वाले तालिबान के सफाये के लिए अमेरिका ने अफगानिस्तान पर हमला किया और ओसामा सहित कई खूंखार आतंकियों को मौत के घाट उतार कर अफगानिस्तान में अपनी फौजें तैनात कर दीं. बीते दो दशकों में नाटो और अमेरिकी फ़ौज अफगानिस्तान में लगातार दहशतगर्दों से मोर्चे लेती रही. इस तरह दहशतगर्दों और कट्टरपंथियों के दम पर फलने-फूलने वाले तालिबान की हालत काफी खस्ता हो गयी.

Tags:
COMMENT