जब से गौरक्षा के नाम पर खुलेआम इंसानों के कत्लेआम का सिलसिला शुरू हुआ है तब से केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री व पर्यावरणप्रेमी मेनका गांधी का भी पशुपक्षियों से मोह भंग हो चला है. वे ऐसे बयान देने लगी हैं जो हकीकत और आंकड़ों से दूर होते हैं. ऐसे में उन पर हल्ला भी खासा मचता है.

COMMENT