बौलीवुड में हर कोई सिनेमा में आए बदलाव की चर्चा कर रहा है. मगर अभिनेता रणबीर कपूर इस बात से पूरी तरह से सहमत नहीं है. वह साफ तौर पर कहते हैं पहचान के संकट के चलते ही सिनेमा  नहीं बदल रहा.

अपनी बात को विस्तार से स्पष्ट करते हुए रणबीर कपूर कहते हैं-‘‘सिनेमा में महज यह बदलाव  आया है कि पहले की तरह अब कलाकार हर साल चार पांच फिल्में और लगभग उसी तरह के किरदारों में नजर नहीं आता है. शाहरुख खान साहब को देखिए, तो वह कुछ अलग काम कर रहे हैं. शाहरुख खान की ‘फैन’, सलमान की ‘सुल्तान’, आमिर खान की ‘दंगल’ आने वाली हैं. यह सब अलग तरह की फिल्में हैं.

हर कलाकार कुछ नया करने की कोशिश  कर रहा है. नई प्रतिभाएं सिनेमा से जुड़ रही हैं. नए लेखक व निर्देशक सिनेमा से जुड़ रहे हैं. अब ‘तलवार’, ‘पीकू’ जैसी फिल्में भी बाक्स आफिस पर अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं, जिनमें स्टार कलाकार नहीं हैं. पर कहानी अच्छी नहीं दिखाओगे, तो सिनेमा का यह अच्छा समय ज्यादा दिन नहीं रहेगा. अब वह सिनेमा बन रहा है, जिसके साथ दर्शक जुड़ा हुआ महसूस कर रहा है. पर अभी भी सिनेमा में काफी बदलाव की जरुरत है.

सिनेमा में सही तौर पर बदलाव न आने की सबसे बड़ी समस्या यह है कि हम खुद बदल रहे हैं. हमें खुद पता नहीं है कि हम कौन हैं. हमारे जीवन मूल्य क्या है? अब हम सब की जिंदगी पर पश्चिमी सभ्यता व संस्कृति के साथ साथ पोलीटिकल प्रभाव भी है. हम कोई और बनने की कोषिष कर रहे हैं, जो हम नही है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT