अर्थशास्त्र के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है. भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी, उनकी पत्नी ऐस्थर डफ्लो और माइकल क्रेमर को ‘वैश्विक गरीबी खत्म करने के प्रयोग’ के उन के शोध के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा.

भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक अभिजीत बनर्जी फिलहाल मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट औफ टैक्नोलौजी में अर्थशास्त्र के प्रोफैसर हैं. वह और उनकी पत्नी डफ्लो अब्दुल लतीफ जमील पौवर्टी ऐक्शन लैब के सह संस्थापक भी हैं.

अभिजीत बनर्जी ने 1981 में कोलकाता यूनिवर्सिटी से बीएससी किया था, जबकि 1983 में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) दिल्ली से एमए किया था. इस के बाद उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से 1988 में पीएचडी की थी.

Tags:
COMMENT