16वीं लोकसभा के चुनाव प्रचार के दौरान देशभर में जिस शख्स के नाम की सुनामी का दावा किया जा रहा था, आखिर वह नरेंद्र दामोदरदास मोदी भारतीय जनता पार्टी यानी भाजपा को पहली बार पूरे बहुमत के साथ सत्ता तक पहुंचाने में कामयाब हो गए हैं. तमाम चुनावी सर्वेक्षणों, भविष्यवाणियों और अनुमानों पर खरा उतरते हुए भारतीय जनता पार्टी अप्रत्याशित तौर पर 282 सीटें जीत कर 3 दशक बाद अकेले सरकार बनाने के काबिल बन गई. भाजपा को खुद इतने बंपर बहुमत की उम्मीद नहीं थी. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए को 336 सीटों का छप्पर फाड़ कर बहुमत मिला है.

Tags:
COMMENT