आजकल का समय फैशन का है और आज का यूथ फैशन का दिवाना है. बौडी पियर्सिंग भी फैशन का एक अहम हिस्सा बन गया है. यानी की फैशन के पीछे खुद को खूबसूरत और आकर्षक दिखाने के लिए लोग शरीर में किसी भी भाग पर छेद करवाने से पीछे नही हटते. आज कल बौडी पियर्सिंग कराना बेहद आम हो गया है. जिस तरह लोग अपने कपड़ो और हेयरस्‍टाइल पर ध्‍यान देने लगे हैं उसी तरह से बौडी पियर्सिंग के लिये भी टीनेजर्स पागल हो रहे हैं. लेकिन इसे आंख बंद कर के नहीं बल्कि बहुत ही सोंच समझ कर करवाना चाहिये, क्‍योंकि इससे आपके शरीर को कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

body-piercing

पियर्सिंग हमेशा एक प्रशिक्षित व्यक्ति द्वारा तथा एक स्वच्छ सुविधा वाली जगह पर ही करवाएं. इसके लिए इस्तेमाल किया जाने वाला उपकरण भी साफ होना चाहिये. पियर्सिंग करवाने के बाद अपने शरीर के उस भाग की देखभाल करें वरना संक्रमण होने के चांस बहुत ज्‍यादा बढ़ जाते हैं. यहां पर कुछ टिप्‍स दिये हुए हैं जो कि पियर्सिंग करवाने के बाद काम आएंगे. तो जरा ध्‍यान दीजियेगा.

– अपनी पियर्सिंग वाली जगह को हमेशा छूने से बचे और जब भी छुएं तो अपने हाथों को उससे पहले साबुन से धुल लें. नाभि पर की गई पियर्सिंग को कुछ दिन कपड़े से ढंक कर ही रखना चाहिये नहीं तो संक्रमण का खतरा रहता है.

body-piercing

– आपको बौडी पियर्सिंग को सूखा रखना चाहिये और ढीले कपड़े पहनने चाहिये.

– मुंह या कान पर पियर्सिंग करवाने पर कुछ ऐसे तरल पदार्थ मिलते हैं जो उस जगह पर जल्‍द से जल्‍द ठीक कर देते हैं. इसके अलावा आप सेंधा नमक और पानी को घोल कर भी प्रयोग कर सकते हैं. इससे महीने भर साफ करने से त्‍वचा जल्‍द सही हो जाएगी.

– आम तौर पर पियर्सिंग करवाने के बाद शरीर से तरल पदार्थ निकलता है, जो कि कुछ देर के बाद सूख जाता है और आभूषण के पास जम जाता है. यह आवश्‍यक है कि पियर्सिंग को स्‍वच्‍छ और गंदगी से मुक्‍त रखा जाए.

– होठो पर पियर्सिंग करवाने पर जब भी कुछ खाएं, पियें या स्‍मोकिंग करें तो, बाद में अपने मुंह को एंटीसेप्‍टिक माउथवाश से जरुर धोएं.

body-piercing

– पियर्सिंग करवाने के बाद नहाना चाहिये. इससे शरीर से निकला तरल पदार्थ मुलायम हो जाता है जिससे इससे कौटन बड से निकालना आसान हो जाता है.

– पियर्सिंग पर किसी तरह का कोई तेल या साबुन न प्रयोग करें. शैंपू और डियोड्रंट भी न प्रयोग करें और पहले हफ्ते में स्‍विमिंग भी न करें नहीं तो अन चाहे बैक्‍टीरिया पनपना शुरु हो जाएंगे.

– आप चाहे तो टी ट्री औयल या इमू औयल का प्रयोग कर सकते हैं. इससे छेद जल्‍द सही होगा.

Tags:
COMMENT