टीनेज में त्वचा को खास देखभाल की जरूरत होती है. ऐसा इसलिए क्योंकि टीनेज हमारी जिंदगी का वह दौर होता है जब हमारे शरीर में कई आंतरिक बदलाव होते हैं. इस उम्र में अक्सर चेहरे पर कील-मुहांसों सहित कई समस्याएं पैदा हो जाती हैं. अपनी त्वचा को स्वस्थ और सुंदर बनाएं रखने के लिए जरूरी है कि आप पौष्टिक आहार लें और फिटनेस पर भी ध्यान दें. इसके अलावा भी कुछ उपाय आप अपना सकते हैं आइए जानते हैं इसके बारे में.

अपने स्किन को जानें

किसी भी तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट या घरेलू उपचार से पहले यह जरूर जान लें कि आपकी त्वचा किस प्रकार की है. अगर आपकी त्वचा औयली है, तो इसे साधारण साबुन से ही साफ करें. त्वचा पर जमे तेल और गंदगी को हटाने के लिए डीप क्लेंजर से स्क्रब करें.

त्वचा पर एसपीएफ लगाएं

टीनेजर्स के साथ होता यह है कि वे स्कूल के बाद खेलने-कूदने में लग जाते हैं. इससे उनकी त्वचा पर सीधे सूरज की रोशनी पड़ती है. ऐसे में जरूरी है कि आप सूरज की रोशनी से बचने के लिए एसपीएफ युक्त स्किन क्रीम का इस्तेमाल करें. यह वाटर प्रूफ होता है, जिससे इसपर पसीने का असर नहीं पड़ता है और यह खतरनाक यूवी से बचाता है.

एक्सफोलीएटिंग मास्क और फ्रूट फेसियल

टीनेज लड़कों के लिए फेसियल मास्क और फ्रुट स्क्रब बेहद जरूरी है. इसके लिए पपीता, संतरे का छिलका या रस, ऐवकाडो, पाइनएप्पल, स्ट्राबेरी आदि फलों का इस्तेमाल करें. इसके साथ-साथ त्वचा को तरोताजा दिखाने और डिटौक्स के लिए शहद को भी प्रयोग में लाएं.

मुहांसे को सावधानी से फोड़ें

ज्यादातर टीनेज को ब्रेकआउट का सामना नियमित रूप से करना पड़ता है. कई बार तमाम दवाइयों के बावजूद भी इन कष्टदायक मुहांसों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. जब आप इसे फोड़ने के बारे में सोचें तो इसके बाद होने वाली जलन और निशान से बचने के लिए सावधानी बरतें. ऐसा करते समय जरूरी है कि आपका हाथ साफ हो. साथ ही उस जगह को क्लेंजर से साफ भी जरूर कर लें.

खानपान

अपनी त्वचा को सुंदर और स्वस्थ बनाए रखने के लिए पौष्टिक आहार बेहद जरूरी है. जहां तक हो सके औयली फूड खाने से बचें. पिज्जा और बर्गर खाने के बजाए अपने आहार में साग-सब्जी, फल, नट्स, ग्रेंस आदि को शामिल करें. त्वचा को प्राकृतिक रूप से साफ करने और खूबसूरत बनाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप फल, नट्स और ऐवकाडो, डार्क बेरी, अंगूर व बीटरूट का सेवन करें.

ज्यादा पानी पीएं

टीनेज लड़के अपने व्यस्त दिनचर्या में पानी पीने को ज्यादा तवज्जो नहीं देते हैं. वास्तव में पानी सबसे शक्तिशाली प्राकृतिक डिटौक्सीफाइंग एजेंट है, जिसे अधिकतर लोग नजरअंदाज कर देते हैं. अपको अपने पसीने की भरपाई के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए. इससे शरीर और त्वचा में मौजूद गंदगी भी बाहर आ जाएगी.

Tags:
COMMENT