उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के खेमादेई गांव की तेजिस्वनी सिंह का परिवार मध्यवर्गीय परिवार है. पिता श्रीराम सिंह चकबंदी विभाग में थे. तेजस्विनी की एक बड़ी बहन और एक छोटा भाई है. पढ़ाई के लिए पिता ने लखनऊ में रहना शुरू किया. तेजस्विनी की मां निर्मला सिंह ने अपनी बेटियों का पालनपोषण बहुत अच्छी तरह से किया. तेजस्विनी के पिता को जब कैंसर हुआ तो डाक्टरों ने कहा कि ये 6 माह से अधिक जीवित नहीं रह पाएंगे.

COMMENT