चाहे गृहणी हो या कामकाजी महिला, कौलेज गोइंग गर्ल हो या साठ साल की दादी अम्मा, सुन्दर तो हर औरत दिखना चाहती है. आज से दस-पन्द्रह साल पहले तक ब्यूटी पार्लरों पर जहां जवां लड़कियों का कब्जा हुआ करता था और चालीस साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं को यदाकदा ही वहां देखा जाता था, वहीं आज चालीस से लेकर सत्तर वर्ष तक की महिलाएं भी ब्यूटी पार्लर में पेडीक्योर, मेनिक्योर, हेयर कलर, फेशियल, मसाज करवाती खूब नजर आती हैं. हाल के वर्षों में सौन्दर्य के प्रति भारतीय महिलाओं में काफी जागरुकता आयी है. यह जागरुकता महानगरों से लेकर छोटे कस्बों तक में और धनाड्य से लेकर लो-इनकम कैटेगरी तक की महिलाओं में दिखायी दे रही है. अब कुछ खास मौकों पर ही खूबसूरत दिखने की बजाये महिलाएं हर वक्त खूबसूरत दिखना चाहती हैं. वहीं यह बात भी गौर करने वाली है कि आज की महिला के लिए खूबसूरत दिखने का मतलब सिर्फ खास मौकों के लिए तैयार होना और चेहरे पर मेकअप कर लेना भर नहीं है, बल्कि अब सुन्दरता के दायरे में ग्लोइंग स्किन, चमकदार बाल, अच्छा मेकअप, ड्रेस, फ्रेगरेंस, फुटवियर, हेयर कलर सब कुछ समाहित है. यानी आज की महिला पूर्णरूप से सुन्दर दिखना चाहती है – नख से शिख तक सुन्दर.

पूर्ण सुन्दरता किसी स्त्री को तभी हासिल हो सकती है जब वह हेल्दी हो. हेल्दी होने का यह मतलब हरगिज नहीं है कि आप मोटी या हट्टी कट्टी हों, बल्कि हेल्दी होने का मतलब है कि आपका बौडी फिगर संतुलित हो, आप में काम करने की स्ट्रेंथ हो, आपको कमजोरी महसूस न होती हो और आप जल्दी-जल्दी बीमार न पड़ती हों. आमतौर पर देखा जाता है कि महिलाएं पतला होने के लिए काफी मशक्कत करती हैं. वे जिम जाती हैं, डायटीशियन के पास जाती हैं, योगा करती हैं, जौगिंग करती हैं, मगर इसके साथ वे अपने खानपान पर ध्यान नहीं देतीं या हेल्दी फूड नहीं खातीं. ऐसी हालत में वे पतली तो जरूर हो जाती हैं मगर न तो हेल्दी होती हैं और न ही सुन्दर दिखती हैं.

दुबली-पतली राशि ने दोस्त की इंगेजमेंट पार्टी में जाने के लिए पार्लर से बहुत अच्छा मेकअप करवाया. पार्टी में शुरू के एक घंटे तक तो वह सबको बड़ी सुन्दर दिखी, मगर जैसे जैसे समय बीतता गया और गर्मी बढ़ी, वैसे वैसे उसके चेहरे पर चढ़ी मेकअप की परतें उतरने लगीं. दो घंटे में ही उसकी आंखों के नीचे काले घेरे भी नजर आने लगे. वहीं शालिनी बहुत हल्के मेकअप में पार्टी में पहुंची थी. पार्टी में पूरे वक्त वह चहकती रही, डांस फ्लोर पर डांस करती रही, मगर उसका चेहरा जैसे पहले शाइन कर रहा था वैसा ही पार्टी के अंत तक बना रहा. वजह यह थी कि वह अन्दर से हेल्दी थी. अगर आप अन्दर से स्वस्थ हैं तो उसका बहुत ही पौजिटिव असर आपके चेहरे, बालों, आंखों पर तो दिखता ही है, आपका एनर्जी लेवल भी काफी हाई रहता है और मेकअप भी आपके चेहरे पर टिका रहता है. हेल्दी होना आपकी पूर्ण खूबसूरती से जुड़ा है. अगर आप हेल्दी हैं तो आपकी स्किन ग्लो करेगी, बालों में चमक रहेगी, नेल्स सुन्दर होंगे और मेकअप पूरे टाइम बना रहेगा.

हेल्थ और ब्यूटी को लेकर आज हर उम्र की महिला कौन्शेस है. आज मेकअप करना भी सिर्फ कुछ खास मौकों की बात नहीं है, बल्कि हर वक्त की जरूरत है. महिलाएं इस बात को समझ रही हैं कि अच्छा और स्वस्थ दिखना हर समय जरूरी है. चाहे आप घर पर हों या औफिस में या कौलेज में. हेल्थ, ब्यूटी और पर्सनल केयर को लेकर जागरुकता दुनिया भर में बढ़ी है और भारत में तो बीते दस सालों में यह ट्रेंड तेजी से प्रसार पा रहा है. भारतीय महिलाएं हेल्थ और ब्यूटी को लेकर पहले से कहीं ज्यादा कौन्शेस हैं. बीते दस सालों में भारतीय महिलाओं में बड़ा बदलाव देखा गया है. अब योगा, मेडिटेशन, पर्सनल हाइजीन और ब्यूटी की तरफ महिलाएं काफी ध्यान दे रही हैं, जो एक अच्छा साइन है. आज से दस साल पहले तक सुबह-सुबह सड़कों पर जौगिंग करने वालों में महिलाओं की संख्या बहुत कम हुआ करती थी. कभी-कभार ही कोई युवती नजर आती थी, मगर आज चौदह साल की बच्ची से लेकर चालीस साल तक की महिला सड़क पर जौगिंग करती नजर आती हैं, पार्क में एक्सर्साइज करती दिख रही हैं, यह भारतीय महिलाओं की हेल्थ और ब्यूटी के लिए बहुत अच्छा साइन है.

योगा, जौगिंग और एक्सर्साइज से जहां बौडी फिट रहती है, वहीं शरीर पर अतिरिक्त चर्बी नहीं चढ़ती, पूरे शरीर में खून का बहाव ठीक होता है, पूरे शरीर को आॅक्सीजन मिलती है और आपके सारे जोड़ लम्बे समय तक काम करते रहते हैं. मगर इसके साथ ही आपको अपने खान-पान पर भी ध्यान देना बहुत जरूरी है. आपने एक्सर्साइज करके खुद को दुबला-पतला कर लिया और खाने पर ध्यान नहीं दिया तो आपकी सारी मेहनत बेकार है क्योंकि हेल्दी खाने के अभाव में आपके शरीर में अनेक रोग पनप सकते हैं जो आपको जल्दी-जल्दी बीमार करेंगे.

सुन्दर दिखना है तो खानपान बदलें

एक्सर्साइज के साथ स्वस्थ खानपान बहुत जरूरी है. अगर आपको सम्पूर्ण सुन्दरता की ख्वाहिश है तो तला-भुना, चाट-पकौड़ी, पीजा, बर्गर, ब्रेड जैसी चीजें अपने खानेपीने की लिस्ट से तुरंत बाहर कर दें. इसके बदले में दिन में खूब सारा पानी, छाछ, सलाद, फल, हरी सब्जियां, सूप, जूस, चपाती, दाल, मक्खन, नारियल पानी और दूध-दही का समावेश अपने फूड चार्ट में कर लें. यह वह चीजें हैं जो आपको अन्दर से ऐसा खूबसूरत और स्वस्थ बनाएंगी जो आपके चेहरे, बालों, आंखों और नाखूनों में परिलक्षित होगी.

आंवला आपकी स्किन के लिए बहुत लाभकारी है. दिन में एक आंवला नमक लगा कर जरूर खायें. दिन में एक या दो बार छाछ, नारियल पानी और जूस जरूर लें. इसके साथ ही प्रत्येक दिन कोई दो फल अवश्य खायें. खीरा, ककड़ी और मूली भी स्किन की सेहत के लिहाज से बहुत जरूरी हैं.

सुबह उठ कर फ्रेश होने के बाद खाली पेट दो ग्लास पानी अवश्य पियें और दिन भर में आठ से दस ग्लास पानी पियें, इससे शरीर में जमे टॉक्सिन्स बाहर निकल जाएंगे.

नाश्ते में ब्रेड खाने की बजाये पांच अनाजों से बनी एक छोटी चपाती, अंडा, अंकुरित दालें, अंकुरित चना और दूध या जूस लें. यह नाश्ता आपको सारा दिन तरोताजा रखेगा. दोपहर और रात के खाने में चपाती, दाल, सब्जी, सलाद, दही जरूर लें. दो खाने के बीच में यदि भूख लगे तो चिप्स या तला-भुना चाट पकौड़ी खाने की बजाये सूप या जूस लें. गन्ने का जूस या गाजर-टमाटर का रस सेहत के लिहाज से बहुत अच्छा है.

दोपहर के खाने के बाद आधा घंटा आंख बंद करके कुर्सी पर सुस्ताना अच्छा होता है. वहीं रात का खाना आठ बजे तक खा लेना चाहिए ताकि खाने और सोने के बीच कम से कम तीन घंटे का अन्तर रहे. खाने के तुरंत बाद बिस्तर पर लेट जाना सेहत के लिए ठीक नहीं है, इससे अपच, गैस, तनाव, हाथ-पैर में ऐंठन और अन्य कई तरह की प्रॉब्लम पैदा हो जाती हैं.

बौडी और हेयर मसाज है जरूरी

बौडी मसाज सुन्दर दिखने के लिए बहुत जरूरी है. मालिश से बदन में ब्लड सर्कुलेशन दुरुस्त होता है, जिससे त्वचा पर चमक बढ़ती है. बौडी मसाज से डेड स्किन उतर जाती है. नई और फ्रेश स्किन के ऊपर आने से ग्लो बढ़ता है. बौडी मसाज से स्किन टाइट होती है और झुर्रियां पैदा नहीं होतीं. हफ्ते में एक दिन सरसों या नारियल के तेल को हल्का गुनगुना करके फुल बौडी मसाज जरूर करें. बेहतर होगा यदि किसी मालिश वाली से यह काम करवाया जाये. इससे बौडी को रेस्ट भी मिलता है और हर तरह का तनाव, दर्द और खिंचाव दूर होता है.

इसी के साथ हफ्ते में एक बार हेयर मसाज भी जरूरी है. करीब एक घंटे हल्के गुनगुने तेल से हेयर मसाज करने के बाद गर्म पानी में तौलिया डुबो कर निचोड़ लें और उसे कुछ देर के लिए अपने बालों को चारों लपेट लें. हेयर मसाज बालों में चमक तो लाता ही है, इससे कमजोर, रूखे और दोमुंहे बालों से भी छुटकारा मिल जाता है और बालों की ग्रोथ बढ़ती है.

नियमित रूप से मेनिक्योर और पैडीक्योर करवाने से हाथों-पैरों की डेड स्किन निकल जाती है, इससे स्किन स्मूद और चमकीली नजर आती है. इसके साथ ही नाखूनों की मालिश और साफ-सफाई नेल्स की ग्रोथ और चमक को दुरुस्त बनाती है, जिसके बिना आपकी खूबसूरती अधूरी है. महीने में एक बार फेशियल भी जरूरी है.

तो अगर आपको पूर्ण रूप से सुन्दर दिखना है और जीवन के अंत तक अपनी सुन्दरता को बरकरार रखना है तो सिर्फ मेकअप से काम नहीं चलेगा. इसके लिए आपका हेल्दी होना आवश्यक है और हेल्थ के अन्तर्गत योगा, जिम, एक्सर्साइज, दौड़, साइक्लिंग, तैराकी के साथ-साथ स्वस्थ खान-पान और बौडी केयर बहुत जरूरी है.

Tags:
COMMENT