घर में नई बहू आती है तो शुरूशुरू में परिवार में एक असहजता दिखने लगती है. खासकर ससुर, जो पहले ठसक के रहता था, को संयमित रहना पड़ता है. इस नए बदलाव से उखड़ें नहीं, ऐसा होता ही है, बल्कि सामंजस्य बैठाने की कोशिश करें.

सामान्य हिंदी मीडियम स्कूलों में पढ़लिख कर बड़े हुए परिवार आज भी तमाम तरह के घरेलू हालात से रूबरू होते हैं. गांव छोड़ कर शहरों में रह रहे ऐसे परिवार अपने सीमित सदस्यों के साथ रहते हैं. गांव से शहर आने के बाद जो छोटा सा घर बनाते हैं उसी को बनाने व तैयार करने में उन की आर्थिक स्थिति बिखर जाती है. इस के बाद बच्चों की पढ़ाई और कैरियर को बनाने की जद्दोजहेद में बड़े घर का सपना पूरा नहीं हो पाता.

गांव में बड़ेबड़े संयुक्त परिवारों को छोड़ कर शहर आए ये परिवार अपने छोटे से परिवार में ही खुश रहते हैं. उन को कभी इस बात की परवा भी नहीं होती कि घर के हर सदस्य को रहने के लिए अलग कमरा क्यों नहीं है? जाड़ा, गरमी, बरसात कई बार सब एक ही कमरे में रह लेते हैं. वे इसे ही अपना प्यारा सा, छोटा सा संसार सम?ा लेते हैं.

इस में परेशानी तब आती है जब घर में नई बहू का आगमन होता है. आमतौर पर आज के समय में शहरों में होने वाली शादियां मैरिज हौल में होती हैं. लगभग सभी मेहमान वहीं आते हैं और वहीं से वापस अपने घर चले जाते हैं. घर केवल नई बहू ही आती है. नई बहू के लिए घर का सब से अच्छा कमरा तैयार कर दिया जाता है. उस का अपना सामान उस में रख दिया जाता है. शहरों के ज्यादातर घर छोटे होते हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...