क्या आपके बाल भी भारी मात्रा में झड़ते हैं? ऐसे में हो सकता है कि आप गंजेपन की ओर अग्रसर हो रहे हों. कई बार हम यह नहीं समझ पाते कि बाल क्यों झड़ रहे हैं, लेकिन एक शोध में पाया गया है कि पुरुषों में गंजेपन का कारण अक्सर जेनेटिक होता है यानी कि आनुवांशिक तौर पर भी आपको यह परेशानी विरासत में मिल सकती है, जबकि स्त्रियों में बाल झड़ने के पीछे मुख्य कारण तनाव या मानसिक परेशानी होती है. इसके अलावा भी बाल झड़ने और गंजेपन के कई कारण हो सकते हैं. तो आइए जानते हैं इसकी 9 बड़ी वजहें.

हेयर स्टाइल टूल

नहाने के बाद लोग अक्सर अपने बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर की मदद लेते हैं. यह बाल सुखाने और हेयरस्टाइल बनाने का एक आसान तरीका हो सकता है, पर कई अध्ययन से पता चला है कि प्रतिदिन इसका प्रयोग आपके बालों के लिए ठीक नही है. लगातार अपने बालों को सीधा या घुंघराला बनाने के लिए किए जाने वाले ट्रीटमेंट से भी बाल झड़ते हैं.

नींद की समस्या

न सोने का असर आंखों के साथ-साथ सिर पर भी दिखता है. इंसोमिया, नार्कोलेप्सी और अन्य सोने संबंधी विकार बालों की सेहत पर बुरा असर डालते हैं. कई बार तो यह गंजेपन का कारण भी बन जाता है.

जंक फूड

जंक फूड पर ज्यादा निर्भर रहने से पोषण संबंधी कमी होती है, जो कि गंजेपन का कारण हो सकता है. वहीं खानपान में ठीक तरह से ध्यान न देने से भी बाल बड़ी मात्रा में झड़ते हैं.

हार्मोन परिवर्तन

गर्भावस्था और प्रसव के दौरान शरीर में हार्मोन के स्तर में होने वाले उतार-चढ़ाव से भी भारी मात्रा में बाल झड़ते हैं. थाइराइड इंबैलेंस, मासिक धर्म का बंद हो जाना और अन्य हार्मोन से संबंधित अवस्था में भी बाल तेजी से झड़ते हैं.

तनाव

आज की इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हमारे शरीर से बड़ी मात्रा में ऊर्जा बाहर निकलती है, जिससे तनाव का स्तर बढ़ता है. ज्यादातर लोगों में यह देखा गया है कि भारी तनाव के कारण उनके बाल झड़ते हैं. ज्यादा तनाव लेने के कारण भी इंसान गंजेपन का शिकार हो सकता है.

आनुवंशिक कारण

बाल झड़ने के पीछे की एक खास वजह आनुवंशिक भी हो सकती है, इसमें आप ज्यादा कुछ नहीं कर सकते. आप सिर्फ उचित आहार और बेहतर लाइफस्टाइल के जरिए बाल झड़ने की संभावना को कम कर सकते हैं. साथ ही आप उन चीजों से खुद से बचा सकते हैं, जो बाल झड़ने में सहायक होता है.

रसायनिक उत्पाद

वर्तमान में शैंपू, कंडीश्नर और यहां तक कि हेयर औयल भी रसायनयुक्त होते हैं, जो कि बालों को कई तरह से नुकसान पहुंचाते हैं. आज के अधिकतर कास्मेटिक उत्पाद में हानिकारक रसायन रहते हैं, जो बालों को कमजोर करने के साथ-साथ बालों से संबंधित अन्य समस्याओं को भी जन्म देते हैं.

दवाईयां

आज की जीवनशैली तेजी से बदल रही है. इस कारण मानसिक कष्ट भी बढ़ रहा है. जब इसके लिए हम उपचार कराते हैं और दवाई का प्रयोग करते हैं तो यह बाल की सेहत को और खराब कर देता है. कुछ ड्रग्स का अति प्रयोग और भारी खुराक का सीधा संबंध बाल झड़ने और गंजेपन से होता है.

अप्रिय मौसम

आपके औफिस या घर में लगा एयर कंडीश्नर आपके लिए आरामदायक और सुखद तो हो सकता है, पर आपके बालों के लिए भी हो ऐसा जरूरी नही है. चूंकि बाल काफी नाजुक होते हैं, इसलिए वातावरण में बदलाव का असर इसपर सबसे ज्यादा पड़ता है. ऐसे में जरूरी है कि बालों का अच्छे से ख्याल रखा जाए.

Tags:
COMMENT