‘परिणीता’ फिल्म से अपने फिल्मी कैरियर की शुरुआत करने वाली साधारण नैननक्श मगर अभिनय प्रतिभा से भरी विद्या बालन ने अपनी खास पहचान बनाई है. रेखा और स्मिता पाटिल के नक्शेकदम पर चलते हुए विद्या ने ‘कहानी’ जैसी कई फिल्मों में अपनी ऐक्ंिटग का लोहा मनवाया है. इस के साथ ही फिल्म ‘डर्टी पिक्चर’ में ग्लैमर से भरपूर रोल अदा कर ‘ऊ लाला ऊ लाला...’ गाने पर थिरक अपनी बनीबनाई इमेज को झटके में बदल भी दिया. उन्होंने बारबार यह साबित किया है कि वे हर किरदार में ढल सकती हैं. पिछले दिनों सफाई मुहिम में हिस्सा लेने पटना पहुंचीं विद्या ने बातचीत के दौरान बताया कि गांवों में अब उन की पहचान उस दीदी के रूप में कायम हो गई है जो सफाई और शौचालय की बात करती है. उन का कहना है कि हर घर में शौचालय होना चाहिए. एक ओर औरतों को घर की इज्जत कहा जाता है जबकि उन्हें खुले में शौच जाने को मजबूर किया जाता है. कोई अपने घर की इज्जत के साथ ऐसा रवैया अपनाता है क्या? शौचालय घर की इज्जत को घर में रखने के साथ स्वास्थ्य और साफसफाई के लिए भी काफी जरूरी है.

COMMENT