‘‘सोचा ना था’’, ‘‘आहिस्ता आहिस्ता’’, ‘‘जब वी मेट’’, ‘‘लव आजकल’’, ‘‘राक स्टार’’, ‘‘काकटेल’’, ‘‘हाइवे’’, ‘‘तमाशा’’ जैसी फिल्मों के सर्जक इम्तियाज अली भी अब डिजिटल मीडियम के लिए एक सात मिनट की अवधि वाली फिल्म ‘‘इंडिया टुमारो’ लेकर आए हैं. उनका मानना है कि बिजनेस यानी कि बाजार सिनेमा को बदल रहा है. इतना ही नही उनका मानना है कि सेक्सुल कंटेट से सिनेमा सफल नहीं हो सकता.

COMMENT