बदलते मौसम में नन्हे बच्चे की देखभाल करना चुनौती होती है. माता-पिता बच्चे का ख्याल रखने के बावजूद वे बीमार पड़ते जाते है, इसकी वजह बार-बार तापमान में बदलाव का होना है, जिससेबच्चा झेल नहीं पाता और बीमार हो जाता है. असल में छोटे बच्चे की इम्युनिटी कम होती है, जो उम्र के साथ-साथ बढती है.मौसम के बदलाव के साथ इसका प्रभाव देखने को मिलता है, जब अधिकतर बच्चे बीमार पड़ते है.इस बारेंमें डॉक्टर्ज़केफाउंडर एंड डायरेक्टर डॉ. आतिश लड्दाद कहते है किछोटेबच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने की वजह से वे जल्दी कई प्रकार केवायरलऔर वेक्टेरियल संक्रमण के शिकार हो जाते है, ऐसे में अचानक से मौसम का बदलना, जैसेसर्दी से गर्मी, गर्मी से बारिश होने की वजह से उनके शारीरिक समस्याएं मसलन सीजनल फ्लू, एलर्जी, कोल्डकफ, हीट स्ट्रोक, डायरिया, मलेरिया, डेंगूआदि बिमारियांहोनेका खतरा रहता है, ऐसे में माता-पिता और केयर टेकर्स को कुछ सावधानियां बरतने की जरुरत है, ताकि बच्चा इन सब समस्याओं से दूर रहे.ध्यान देने योग्य कुछबातें निम्न है,

साफ़ सफाई पर दे ध्यान

माता-पिता को हमेशा बच्चों की सीजनएलर्जी को नोटिस करने की जरुरत है, गर्मी से सर्दी और सर्दी से गर्मी, सीजनल पराग कण, धूल के कण, मौल्ड्सआदि से बुखार, अस्थमा और श्वास सम्बन्धी कई बिमारियोंके होने का खतरा रहता है, हालाँकि अस्थमा कई बार अनुवांशिक कारणों से भी हो सकता है, पर सावधानी रखने से इन बिमारियों से बचा जा सकता है.गर्म मौसम में ग्राउंड लेवल ओजोन के बढ़ने से बच्चों में अस्थमा एटैक आना शुरू हो जाता है, ठंडीमेंधूल कण और मौल्ड्स की वजह से फंगस का विकास होता है, जो अधिकतर बाथरूम और फर्श पर ग्रो करता है, ऐसे में झाड़ू से झाड़ने के बजाय वैक्यूम क्लीनर का प्रयोग सप्ताह में एक या दो दिन फर्श और कारपेट साफ़ करने के लिए करें. गीले कपड़ों से धूल मिटटी को साफ़ करें , बिस्तर के चद्दर को कभी झटके नहीं, धीरे से हटायें,मानसून के मौसम में घरों की सफाई बार-बार मेडिकेटेडफ्लोर क्लीनर से करते रहे, कर्टेन शेड्स को साफ़ रखे और फिदर पिलोके प्रयोग से बचे, क्योंकि ये धूल, मिटटी को अधिक आकर्षित करती है. वेंटिलेशनऔर धूप कासही प्रवेश कमरों में हो, इसका ध्यान रखें, ताकि फफूंद का ग्रोथ न हो, पेट्स और जानवरों के कांटेक्ट में आने से बच्चों को बचाएँ,जिनछोटे बच्चों को मौसम की एलर्जी है, उन्हेंमेडिकल हेल्प साथ में देते रहे, ताकि उनकी तबियत ठीक रहे.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT