सोडा बेस्ड ड्रिंक्स को हम खुद से दूर नहीं कर पाते. वैसे तो सोडा बेस्ड ड्रिंक्स हमें तुरंत तरोताजा महसूस करवाते हैं लेकिन सोडा शरीर के अंदरूनी अंगों के लिए बेहद नुकसानदेह है, इससे किडनी और लिवर को घातक नुकसान पहुंचता है. इसका हमारी प्रजनन क्षमता पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है. सोडा बेस्ड सॉफ्ट ड्रिंक्स की बॉटल और कैन सस्ते प्लास्टिक और मेटल से बने होते हैं, ऐसे में नियमित रूप से इन ड्रिंक्स का सेवन करने से प्रजनन क्षमता पर असर पड़ता है. प्लास्टिक बॉटल बनाने के लिए जिन केमिकल्स का इस्तेमाल होता है उससे हार्मोन समस्याएं उत्पन्न होती हैं और महिलाओं में मिस्कैरेज का रिस्क बढ़ने के साथ फर्टिलिटी भी घट जाती है.

Tags:
COMMENT