रवि जबसे रांची से मुम्बई काम के लिए आया है, उसका पाचनतन्त्र बिल्कुल बिगड़ गया है. इसकी वजह है जल्दीबाजी, तनाव, भागमभाग और किसी भी चीज के लिए वक्त न होना. इन सारी बातों ने एकजुट होकर उसकी सेहत खराब कर दी है. साल भर के अन्दर उसका दस किलो वजन घट गया है. फिर उस पर कभी एसिडिटी और जलन तो कभी लूज मोशन लग जाते हैं. कभी-कभी तो रात भर वह गैस के मारे बेचैन रहता है. दरअसल वक्त की कमी के कारण रवि दौड़ते-भागते नाश्ता करता है, उसके बाद तुरंत नहा लेता है. रात में भी खाना खाते-खाते उसको ग्यारह बज जाते हैं और खाने के तुरंत बाद वह सोने के लिए बिस्तर पर गिर जाता है. जबकि रांची में जब वह अपने घर पर था तब उसके पास नाश्ते, खाने और नहाने के बीच काफी वक्त होता था. वहां उसकी सेहत बिल्कुल दुरुस्त थी.

Tags:
COMMENT