दांतों में सेंसिटिविटी की परेशानी आम हो चुकी है. अक्सर ठंडा-गर्म खाने से लोगों को दांतों में झनझनाहट की शिकायत होती है. ये आपकी दांतों पर लगी इनेमल की कोटिंग के घिस जाने से होता है. इसी कोटिंग के बदौलत हम कठोर चीजों को खा पाते हैं. जब दांतों से इनेमल की कोटिंग हट जाती है तब दांतों में कुछ भी ठंडा या गर्म खाने पर बड़े जोर की टीस मचती है. इसके लिए दांतों के बैक्टीरिया और प्लेग भी जिम्मेदार होते हैं. अगर आपको भी ये परेशानी होती है तो हम आपके लिए लाए हैं घरेलू उपचार, जिनकी मदद से आप इस परेशानी का इलाज कर सकेंगे.

नमक का पानी का उपचार

गुनगुने पानी में दो चम्मच नमक घोल लें. रोज सुबह और रात में इससे कुल्ला करें. सेंस्टिविटी की शिकायत में ये काफी लाभकारी तरीका है.

करें नर्म ब्रस का प्रयोग

ध्यान रखें कि ब्रश आपका नर्म हो. इससे आपके मसूढ़ों पर ज्यादा दबाव नहीं पड़ेगा. दांत साफ करते वक्त हल्के हाथों का प्रयोग करें.

ये भी पढ़ें- सेहत का दुश्मन पैकेटबंद खाना

फ्लोराइड माउथवाश या टूथब्रश का करें प्रयोग

फ्लोराइड हमारे दांतों के लिए काफी जरूरी होता है. इससे सड़न और टूथ इनेमल जैसी समस्याएं दूर रहती हैं. इस परेशानी से बचने के लिए जरूरी है कि ऐसा माउथवाश या टूथपेस्‍ट का प्रयोग करें जिसमें फ्लोराइड शामिल हो.

सरसो का तेल और नमक

एक चम्मच सरसो के तेल में एक छोटा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं. मिश्रण से मसूढ़ों और दांतों में मसाज करें. ऐसा करने के 5 मिनट बाद मुंह धो लें.

एसिडिक पदार्थों से रहें दूर

ऐसे किसी भी खाद्य या पेय से दूरी बनाए रखें जो प्राकृति में अम्लिय हों. जैसे फलों के रस, शीतल पेय, सिरका, रेड वाइन, चाय, आइसक्रीम जैसी चीजों से दूरी बनाएं. अगर आप इन्हें खाएं भी तो तुरंत ब्रश कर लें. ये आहार दांतों के इनेमल का काफी नुकसान करते हैं.

ये भी पढ़ें- मानसिक तनाव को दूर भगाएं ये 6 खास उपाय

Tags:
COMMENT