कोरोना वायरस के चलते सब लोग अपने घरों में रहने को मजबूर है. ऐसे में हर समय घर पर रहने के कारण ज्यादा स्नैक्स खाने में बढ़ोतरी होने के साथ ही एक्सरसाइज काफी कम हो गयी है. साथ ही अनियमित स्लीपिंग पैटर्न ने मोटापे को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई है. ऐसा कोई भी ऐज ग्रुप और जेंडर नहीं है जो इससे प्रभावित न हुआ हो. दुनिया भर के गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट ने इस बारे में चिंता व्यक्त की है. केवल कोरोना वायरस से ही नहीं बल्कि अब मोटापे से भी डरने की जरूरत है.

Tags:
COMMENT