लेखक : डा. अवनीश चंद्र

भारत में हर छठा व्यक्ति मनोरोगी है. उसे उपचार की आवश्यकता है. कर्नाटक राज्य में 8 फीसदी व्यक्ति इस रोग से ग्रस्त हैं. आंकड़े बताते हैं कि आमतौर से 30 से 49 वर्ष की आयु के व्यक्तियों में मनोरोग के लक्षण होते हैं. गांवों की अपेक्षा शहरों में मानसिक रोगी अधिक पाए जाते हैं. अधिकतर इस का कारण गरीबी होता है.

Tags:
COMMENT