बैलेंस डाइट जहां इनसान को स्वस्थ रखती है, वहीं उस की कार्यक्षमता को भी बढ़ाती है. बावजूद इस के कई महिलाएं अपने खानपान के प्रति सचेत नहीं रहतीं. वे असंतुलित डाइट लेती हैं, जिस का असर उन के स्वास्थ्य के साथसाथ उन के काम पर भी पड़ता है. इसलिए चाहे गृहिणियां हों या कामकाजी महिलाएं, बैलेंस डाइट लेना उन के लिए बेहद जरूरी है. संतुलित डाइट स्वस्थ रखने के साथसाथ स्टैमिना भी बढ़ाती है. बैलेंस डाइट का मतलब ऐसा फूड जो ऐनर्जी से भरपूर हो और आप की बौडी को मजबूत बनाए. इसलिए अपनी डाइट को 3 हिस्सों में बांट कर लें. अगर आप चाहती हैं कि आप का शरीर स्वस्थ और फिट रहे तो इस में डाइट चार्ट आप की सहायता करेगा.

डाइटीशियनों के मतानुसार, हर महिला को अपनी डाइट में विटामिन, प्रोटीन और कैल्सियम भरपूर मात्रा में लेना चाहिए. भोजन में अंकुरित दालों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए. ऐनर्जी फूड में गेहूं, चावल, जौ, गुड़, घी, तेल, मक्खन, आलू आदि का इस्तेमाल पर्याप्त मात्रा में करें. ये आप को स्वस्थ रखने के साथसाथ आप की कार्यक्षमता को भी बढ़ाते हैं.

स्ट्रौंग फूड

स्ट्रौंग फूड महिलाओं को ऐक्स्ट्रा ऐनर्जी देता है. स्ट्रौंग फूड्स में मेवे, दालें, दूध आदि आते हैं. मेवे, ड्राईफू्रट्स और दूध का ज्यादा सेवन करने से शरीर तंदुरुस्त रहता है. अगर आप चाहती हैं कि आप बीमारियों से भी दूर रहें तो विटामिंस, मिनरल्स और प्रोटीन से भरपूर चीजों का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा करें. दूध, पनीर, हरी सब्जियां आदि पर्याप्त मात्रा में अपनी डाइट में शामिल करें. कामकाजी महिलाओं को औफिस में घंटों सीट पर बैठ कर काम करना पड़ता है, जो कई बार उन में थकान के साथसाथ तनाव भी पैदा कर देता है. कामकाजी महिलाओं का यह शैड्यूल उन्हें अनहैल्दी बना देता है. ऐसे में शरीर को विटामिंस व मिनरल्स की सख्त जरूरत होती है, क्योंकि ये शरीर को ऐनर्जी देते हैं. इसीलिए इन का पर्याप्त मात्रा में सेवन जरूरी है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT