महासागरों में बहुत छोटेछोटे जीवों से ले कर बहुत बड़े आकार के जीव जैसे व्हेल, शार्क वगैरह पाए जाते हैं. समुद्री मछलियों में बहुत अधिक फर्क पाया जाता है. इन मछलियों को पूरी तरह से विकसित होने में लाखों साल लग गए हैं. महासागरों में ऐसी मछलियां भी पाई जाती हैं, जो अपने वजन के मुताबिक अपना सेक्स बदल लेती हैं. महासागरों की तलहटी पर तमाम तरह की घासें व वन पाए जाते हैं, जिस में घुस कर तमाम जीव दूसरे जीवों का शिकार करते हैं. महासागरों की तलहटी में पाई जाने वाली कोरल रीफ जलीय पर्यावरण को साफ व सही रखने में बड़ी भूमिका निभाती है. हाल ही में हुए शोध से पता चला है कि सनस्क्रीन लोशन में पाए जाने वाले कैमिकल कंपाउंड पराबैगनी फिल्टर का काम करते हैं. जब हम तैरते हैं तो ये कैमिकल पानी में मिल जाते हैं. भले ही हम इस का इस्तेमाल थोड़ी मात्रा में करें, लेकिन यह कोरल को ब्लीच करने का काम करता है. इस से धीरेधीरे इस जंतु (कोरल) की मौत हो जाती है.

Digital Plans
Print + Digital Plans
COMMENT