किसानों की कमाई का बड़ा हिस्सा बिचौलिए और मंडी के ठेकेदारों के हाथ लगता था किसान को फसल की बोआई के बाद कुछ पैसा ही बचता था. किसान सीधे सप्ताहिक बाजारों, होटलों और घरेलू ग्राहकों को बेच कर कुछ मुनाफा कमा लेता था. लॉक डाउन में किसानों के पास केवल मंडी का ही सहारा रह गया है. जंहा बिचौलियों की मनमानी का शिकार होना पड़ता है.

Tags:
COMMENT