आम पैदावार के मामले में भारत दुनियाभर में पहले नंबर पर है. और यहां पैदा होने वाला ज्यादातर आम यहीं पर खप जाता है लगभग 2 फीसदी ही आम देश से बाहर जाता है.

इस समय देश के अनेक हिस्सों से बाजार में आम आने लगते थे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं है. दक्षिणी भारत के इलाकों से इस समय आम खासी मात्रा में देश के अनेक हिस्सों में पहुंचता था. भारत के उत्तरी भागों में आम का सीजन आने वाला है, लेकिन कोरोना के चलते किसान, व्यापारी सब नुकसान में हैं. इस बार मौसम के बिगड़ते मिजाज, बरसात, ओले, आंधी से भी आम की फसल को खासा नुकसान हुआ है.

देश का प्रसिद्ध आम अल्फांसो, जिस की पैदावार महाराष्ट्र में होती है और मई माह के अंत तक इस वैराइटी का सीजन खत्म हो जाता है, वह भी वहीं पड़ा है. मंडियां खुलने से आसपास की मंडियों से किसान औनेपौने दामों पर बिचौलियों को आम बेचने को मजबूर हैं.

ये भी पढ़ें-आदर्श पोषण वाटिका घर आंगन में उगाएं सब्जियां

आम के व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए देश में जगहजगह मैंगो फैस्टिवल भी लगाए जाते रहे हैं. इस में विदेशी लोग भी हिस्सा लेते रहे हैं, लेकिन इस बार इस पर भी संकट का

दौर है.

कृषि वैज्ञानिक डा. राघवेंद्र विक्रम सिंह का कहना है कि जब तक आम की भरपूर फसल आएगी, तब तक लौकडाउन में और छूट मिल सकती है, जिस से आम बागबानों को ज्यादा नुकसान नहीं होगा.

 प्रोसैसिंग से फायदा 

अकसर देखने में आया है कि फलसब्जी उत्पादों की जब उपज किन्हीं कारणों से खप नहीं पा रही हो या बाजार से उचित दाम न मिल रहे हों तो उस की प्रोसैसिंग की जा सकती है. लेकिन इस काम के लिए पहले से ही तैयारी करनी होती है. लंबे समय तक किसी चीज को बचाए रखने के लिए तकनीक से ही उस को प्रोसैस करना होता है.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...