निजीकरण के बाद हर देश में कोई सूरज चमकने लगेगा यह भूल जाइए. निकम्मी सरकारी कंपनियों के बेचने से सरकार को चाहे जमीन और नाम का पैसा मिल जाए, आम आदमी अब इंस्पेक्टरों और कंपनी मैनेजरों की घौंस की जगह प्राइवेट कंपनियों की घौंस को सहेगी. एचडीएफसी बैंक जानामाना है. बढ़चढ़ कर विज्ञापन करते हैं, आटो लोन भरमार कर देते हैं पर असल में ग्राहकों को चूना लगाने से नहीं बाज आते.

Tags:
COMMENT