सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक और भ्रामक  निर्णय में कहा है कि इनहाउस जांच कमेटियों में बुलाए गए व्यक्ति को अपने साथ वकील रखने की अनुमति नहीं होनी चाहिए. एक तरह से यह तर्क सही हो सकता है क्योंकि यदि हर तरह की जांच में अदालतों वाला माहौल होना जरूरी हो जाए तो किसी बात की कभी जांच हो ही नहीं सकती.

Tags:
COMMENT