सौजन्या-सत्यकथा

हेमलता उर्फ हेमा अपने रिश्ते के देवर योगेश के साथ प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही थी. साथसाथ तैयारी करते उन्हें प्रेम हो गया. उन के प्रेम रोग में हेमलता का पति दिनेश वर्मा बलि का ऐसा बकरा बना कि...

राजस्थान की राजधानी जयपुर के थाना फुलेरा के गांव हिरनोदा में दिनेश वर्मा पत्नी हेमलता उर्फ
हेमा एवं 2 बच्चों के साथ रहता था. बच्चों में बेटी की उम्र 5 साल और बेटे की उम्र 3 साल थी. दिनेश की शादी करीब 7 साल पहले हुई थी. दिनेश पढ़ालिखा था, मगर सरकारी नौकरी नहीं लगी तो परिवार का गुजारा करने के लिए दूसरे काम करने लगा था. वह रोज सुबह काम पर जाता और शाम को घर लौटता था. हेमलता पढ़ीलिखी थी. वह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करती थी. उस के पड़ोस में रहने वाला रिश्ते का देवर योगेश वर्मा भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था.

ये भी पढ़ें- Crime Story : आधी-अधूरी प्रेम कहानी

हेमलता और योगेश प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी साथ बैठ कर करते थे. प्रतियोगी परीक्षा होती तब भी दोनों साथ ही जाते थे. देवरभाभी का रिश्ता था. दोनों के बीच हंसी ठिठोली भी होती थी. गुरुवार, 4 मार्च, 2021 की बात है. रात करीब ढाई बजे हेमा के कमरे से उस के रोने की आवाज आने लगी. रोनेचिल्लाने की आवाज सुन कर मकान के दूसरे हिस्से में सो रही हेमा की सास, चाचा ससुर का परिवार और आसपास के लोग इकट्ठा हो गए. उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि आधी रात को क्या हो गया जो हेमा रो रही है.
उन सभी ने बंद कमरे का दरवाजा खटखटाया, ‘‘दिनेश, दरवाजा खोलो. बहू क्यों रो रही है?’’

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT